Misunderstandings in Relationship: रिश्तों में दूरियाँ लाती है ग़लतफ़हमियाँ

रिश्ते जो एक नाज़ुक सी डोर की तरह होते है जिस में अगर कभी कोई गांठ पड़ जाये तो वो टूट जाते है। कोई भी रिश्ता हो उसको संभाले रखने के लिए आपको हमेशा ही कोशिश करना चाहिए की आपका रिश्ता पारदर्शी हो और आप अपने पार्टनर से कोई भी बात ना छुपाएं ।

अगर कभी आपके और आपके पार्टनर के बीच में कोई गलतफहमी जगह बनाने लगे तो आपको उस ग़लतफहमी की बात को छोड़कर अपने पार्टनर के साथ ज़िंदगी में आगे बढ़ जाना चाहिए बजाय इसके की आप उस बात को लेकर पूरा समय अपने पार्टनर को ताने मारे।

एक रिश्ते में सबसे जरुरी होता है की अपने पार्टनर को समझना, उनके बिना कुछ कहे ही उनकी बातों को सुन लेना, साथ ही अपने पार्टनर पर पूरा भरोसा रखना और उन पर से अपना विश्वास कम न होने देना ।

इस लेख में हम आपको कुछ टिप्स तो देने जा रहे हैं और साथ ही कुछ तरीके भी बताने जा रहे हैं जिससे आप अपने और अपने पार्टनर के बीच आई ग़लतफहमी को दूर कर पाएंगे। तो इस लेख में पढ़े Misunderstandings in Relationship.

Misunderstandings in Relationship: जाने रिश्तों में आयी ग़लतफ़हमियों को दूर रखने के तरीके

Misunderstandings in Relationship

अपने पार्टनर की भावनाओ को समझे

  • अक्सर कपल्स के बीच यह भावना आने लग जाती है की आपका पार्टनर आपको समय नहीं दे रहा या फिर वो आप पर ध्यान नहीं दे रहा।
  • यह एक आम सी ग़लतफहमी है जो काफी लोगो के रिलेशनशिप में आती है।
  • इसके लिए आपको और आपके पार्टनर को अपना रिश्ता मजबूत करने की जरूरत है इसमें अगर आपका पार्टनर आपको समय नहीं दे रहा तो आपको उनसे इस बारे में बात करनी चाहिए।
  • न की आपको ये करना चाहिए की आप अपने आप ही मन में कुछ कुछ रीज़न सोच ले की वे आपसे बात क्यों नहीं कर रहे।
  • ऐसे में आपको अपने पार्टनर को समझना चाहिए और उनसे इसके लिए बात करना चाहिए की वो आपको समय क्यों नहीं दे पा रहे।

आप और आपके पार्टनर के बीच ईगो न आए

  • आपको हमेशा अपने और अपने पार्टनर के बीच में गलतफहमी को नहीं आने देना चाहिए अक्सर गलतफहमी की सबसे बड़ी वजह यह देखी गयी है की लोग अपने रिलेशन के बीच में ईगो को ले आते है।
  • लोगो के रिलेशनशिप में यह देखा गया है की लोग अक्सर अपने पार्टनर को समझे बिना खुद ही अपनी कुछ मतलब निकाल लेते हैं।
  • साथ ही अपने पार्टनर से बात करना बंद कर देते है जिससे की उनके मन में वो ही बात पता नहीं कब तक घूमती रहती है।
  • जिससे की आपके बीच में ग़लतफ़हमियाँ ज्यादा बढ़ जाती है और फिर धीरे धीरे आपका रिश्ता ख़त्म होने लगता है।
  • इसके लिए आपको चाहिए की आप अपने पार्टनर से बात करे बिना ये सोचे की उन्होंने आपसे बात नहीं की तो में क्यों करू।
  • अगर आप अपने रिलेशन में अपना ईगो लाएंगे तो आपका रिलेशन कभी भी आगे नहीं बढ़ पाएगा।

पार्टनर के बारे में भी सोचे

  • हमेशा कोई भी फैसला लेने के पहले अपने पार्टनर के बारे में जरूर सोचे।
  • हमेशा अपने पार्टनर पर विश्वास रखे और अपने रिलेशन में एक दूसरे से कुछ भी न छुपाये।
  • आपके पार्टनर को कभी भी आपकी जरूरत हो सकती है तो आपको हमेशा उनके लिए वहाँ मौजूद होना चाहिए।
  • कभी ही अपने रिलेशन में स्वार्थी न बने और साथ ही अपने पार्टनर की भावनाओ का भी ध्यान रखे।
  • सिर्फ अपने बारे में ना सोचे अपने पार्टनर को भी बराबर रखते हुए फैसले ले।

अपने रिलेशन में जिम्मेदारियां समझे

  • जब भी कभी आपका पार्टनर अपनी जिम्मेदारियां समझने में सक्षम नहीं होता है तो कई प्रकार के गलत ख्याल मन में आते है।
  • ऐसे में कई बार ऐसे सवाल भी मन में आते है की आपका पार्टनर आपसे प्यार नहीं करता है।
  • और इसी के चलते मन में कई प्रकार की ग़लतफ़हमी आती है की सामने वाला व्यक्ति आपके बारे में नहीं सोचता है।
  • इसके लिए आपको हमेशा अपनी रिश्ते से जुड़ी जिम्मेदारियों को समझना चाहिए और साथ ही अगर आप ज़िम्मेदारी नहीं उठा पा रहे तो आपको इस बारे में अपने पार्टनर से बात करनी चाहिए।

अपनी कमिटमेंट को समझे

  • आज कल के समय में पति और पत्नी दोनों ही काम करते है ऐसे में मुश्किल होता है एक दूसरे के काम को समझ पाना और काम के प्रति एक दूसरे की कमिटमेंट को समझना।
  • अगर पति और पत्नी दोनों का ही काम एक समान होता है तो दोनों एक दूसरे को समझते है लेकिन अगर दोनों का काम अलग अलग होता है तो थोड़ी मुश्किल आती है।
  • दोनों को ही अपने काम के प्रति कमिटमेंट देना होता है और ऐसे में अपने पार्टनर से कुछ न कुछ मन मुटाव हो सकते है।
  • ऐसे में आपको अपने पार्टनर के काम को समझना चाहिए और काम के बाद रोज़ थोड़ा वक़्त अपने पार्टनर को देना चाहिए।
  • ऐसा करने से आप दोनों अपने काम को तथा अपनी कमिटमेंट को एक दूसरे को समझा पाएंगे और साथ ही एक दूसरे का साथ दे पाएंगे।
  • फिर चाहे कैसी भी सिचुएशन हो आप और आपके पार्टनर उस सिचुएशन का सामना कर पाएंगे।
  • हमेशा याद रखे की किसी भी बाहरी व्यक्ति की सलाह से काम न करे हमेशा आपसी सलाह से ही काम करे।

अपने पार्टनर की कुछ चीज़ो को नज़र अंदाज़ करें

  • अगर कभी आपको अपने पार्टनर की किसी बात का बुरा लगे और वह आप से गुस्सा हो तो उस बात को उस वक़्त सुलझाने से बेटर है आप अपने पार्टनर के मूड ठीक होने का इंतज़ार करे और फिर बात सुलझाए।
  • यदि आपके और आपके पार्टनर के बीच कोई बात है जिससे की मन मुटाव है तो सिर्फ अपने पार्टनर को ही दोषी न ठहराइए।
  • अपने और अपने पार्टनर के बीच हुई गलतफेहमी को तुरंत सुलझा ले और उसे नाराज़गी न समझे।
  • अगर आपसे कोई गलती हुई है तो अपने पार्टनर को जरूर सॉरी बोले और अपनी गलती को अपने पार्टनर के सामने मान ले।
  • अगर कभी आपका पार्टनर आपको गलत समझता है तो उसे माफ़ कर दे, उस बात को ज्यादा खाँचे नहीं।
  • सभी रिश्तों में ग़लतफ़हमियाँ होती है, तो उसे जितनी जल्दी हो सके सुलझा ले।
  • अगर आप और आपका पार्टनर आपस में अपने बीच आई ग़लतफहमी नहीं सुलझा पा रहे तो आप चाहे तो मैरिज कॉउंसलर की मदद भी ले सकते है।

इस ऊपर दिए लेख में आपने पढ़ा की आप अपने और अपने पार्टनर के बीच आई गलतफहमी को कैसे दूर कर सकते है और साथ ही आपको अपने रिलेशन को मजबूत बनाने के लिए क्या क्या करना चाहिए। तो इन बातों का ध्यान रखे और अपने रिश्ते को हमेशा के लिए अटूट बनाए रखे।