Rosemary Benefits: अद्भुत फायदों से भरपूर एक खुशबूदार औषधि

रोज़मेरी एक प्राकृतिक औषधि है जिसे गुलमेंहदी, केशवास आदि नामो से जाना जाता है। यह एक खुशबूदार पौधा होता है। जिसका उपयोग खुशबु लाने के लिए किया जाता है।

रोजमेरी में नीले रंग के फूल होते है। और इसके पौधे 4-5 फ़ीट तक लम्बे होते हैं। इसके पत्ते सुई के समान नुकीले होते है। रोज़मेरी स्वास्थ्य के लिए भी बहुत ही उपयोगी होता है।

यदि इसका नियमित उपयोग किया जाए तो शरीर में प्रतिरोधक क्षमता का विकास होता है। यह कई बीमारियों को दूर करता है। दर्द को कम करने, बालों को स्वस्थ्य बनाने आदि में भी इसका उपयोग किया जाता है। इसके अतिरिक्त सुगंधित प्रोडक्ट्स में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है।

रोज़मेरी का उपयोग कई खाद्य पदार्थों में भी किया जाता है। रोजमेरी में कार्बोहाइड्रेट, पौटेशियम, कैल्सियम, मैग्नेशियम, विटामिन A आदि पाया जाता है। जानते है Rosemary Benefits के बारे में।

Rosemary Benefits in Hindi: जानिए रोज़मेरी के बेमिसाल फायदे

Rosemary Benefits in Hindi

साँसों में ताजगी लाने के लिए

  • यह एक प्राकृतिक जीवाणु-रोधी एजेंट के रूप में, एक शानदार सांस फ्रेशनर के रूप में काम करता है।
  • इसके उपयोग से आपके मौखिक स्वास्थ्य में सुधार होता है।
  • इसके लिए गर्म पानी में रोज़मेरी की पत्तियों को उबाल ले और फिर इसके पानी से गार्गल कर ले।
  • इसके उपयोग से आप की साँस दिन भर ताज़ा रहेगी।

दर्द से निजात

  • दर्द वाले स्थान पर रोजमेरी के तेल से मालिश करने पर दर्द से छुटकारा मिलता है।
  • रोजमेरी के तेल से आर्थराइटिस की समस्या में भी राहत मिलती है।
  • इसके तेल का उपयोग मांसपेशियों और सिर के दर्द को दूर करने में भी किया जाता है।
  • इसके तेल से जोड़ों और सिर के दर्द के प्रभावित हिस्से पर मालिश करने से राहत मिलती है।
  • रक्त परिसंचरण को उत्तेजित करने में भी यह सहायक होता है।
  • इसमें मौजूद मूत्रवर्धक गुण यूरिक एसिड और शरीर की गंदगी को दूर करने में मदद करता है।

पाचन शक्ति में

  • यदि रोज़मेरी का नियमित उपयोग करते है तो इससे पाचन सकती अच्छी होती जाती है।
  • इससे पेट संबंधित समस्याएं जैसे पेट में दर्द, कब्ज, गैस आदि से राहत मिलती है।

तनाव के लिए

  • रोज़मेरी के द्वारा पुरानी चिंता या तनाव हॉरमोन असंतुलन वाले लोगों में तनाव से राहत मिलती है।
  • इसकी खुशबू से ही मन को शांति का अहसास होता है।

त्वचा के लिए

  • रोज़मेरी में एंटी एजिंग गुण पाए जाते है। इसलिए रोज़मेरी का तेल और उसके पत्ते त्वचा के लिए लाभकारी होते है।
  • इनके उपयोग से त्वचा में चमक आ जाती है। त्वचा पर होने वाले दाग भी ठीक हो जाते है।
  • रोजमेरी के तेल का प्रयोग त्वचा पर करने से उम्र बढ़ने के प्रभाव को कम किया जा सकता है।

माइग्रेन से छुटकारा

  • माइग्रेन की बीमारी के लिए रोजमेरी बहुत ही असरकारी होता है।
  • इसके उपयोग के लिए रोजमेरी की पत्तियों को पानी में उबाल ले।
  • इसके बाद सिर को तौलिए से ढककर लगभग दस मिनट तक उबले हुए पानी की भाप लें।
  • ऐसा करने से रोजमेरी की खुशबू मस्तिष्क तक पहुँचकर माइग्रेन के दर्द से आराम दिलाती है।

बालों के लिए

  • रोजमेरी बालों के लिए भी बहुत ही फ़ायदेमंद होता है।
  • इसके तेल को सिर में या बालों में लगाने से बालों का गिरना कम होगा, जड़े महबूत होंगी और रुसी की समस्या से भी छुटकारा मिलेगा।
  • Rosemary Oil for Hair: 2 बूंद रोजमेरी में 2 चम्मच जैतून या नारियल का तेल मिलाकर बालों की मालिश करना भी फायदेमंद होता है।
  • इसके अलावा रोजमेरी को पानी में उबालकर ठंडा होने पर बालों में शैम्पू की तरह इस्तेमाल भी कर सकते है।

कैंसर से बचाए

  • वैसे तो रोजमेरी का प्रयोग खाने में स्वाद और सुगंध बढ़ाने के लिए किया जाता है लेकिन इसके अंदर मौजूद कारोनोसोल में कैंसर रोधी गुण पाए जाते है।
  • यह ल्यूकेमिया, स्किन कैंसर, ब्रेस्ट कैंसर, कोलोन कैंसर और प्रोस्टेट कैंसर से बचाव में हमारी मदद करता है।

अल्जाइमर रोग का इलाज

  • एक अध्ययन के अनुसार, रोजमेरी के तेल का उपयोग कर अल्जाइमर रोग से ग्रसित लोगों का उपचार किया जाता है।
  • Rosemary Essential Oil को अल्जाइमर की शुरुआत को धीमा करने के लिए वैकल्पिक उपचार के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है।

इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाएं

  • रोजमेरी का नियमित रूप से सेवन करना प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में बेहद कारगर होता है।
  • इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इंफेलेमेटरी गुण पाए जाते है।
  • जो बीमारी और संक्रमण से लड़ने में हमारी मदद करते है।
  • इसके तेल से मालिश करने से कोर्टिसोल का स्तर कम करता है। जो फ्री रेडिकल्स की सफाई करने में सहायक होता है।
  • इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने के लिए रोजमेरी आयल को अरोमाथेरेपी के समय इस्तेमाल किया जाता है।

मुँह की दुर्गन्ध दूर करे

  • रोजमेरी आयल में मौजूद अस्ट्रिन्जन्ट और एंटी बैक्टीरियल गुण दांतों की सुरक्षा करते है।
  • यह दांतों में होने वाली मुंह की बदबू, कैविटी, गीगी मैटिस और प्लाक बिल्ड-अप आदि से छुटकारा दिलाने में सहायक है।
  • यह दांतों को कीटाणुओं से सुरक्षित रखने के साथ साथ, मसूड़ों और दांतो के लिए माउथवाश का काम भी करता है।

ध्यान रखने योग्य बातें

  • अगर रोजमेरी का तेल लगाने से आपको त्वचा पर किसी तरह के दाने दिखाई दे तो आगे से इसका प्रयोग ना करें।
  • अगर इसके तेल से किसी तरह की एलर्जी महसूस हो तो इसे न लगाएं।
  • इसके तेल का आंतरिक रूप से सेवन नहीं करना चाहिए, क्योंकि इसमें कपूर व् अन्य रसायन होते है जो शरीर के लिए जहरीला साबित हो सकता है।
  • रोजमेरी तेल का सेवन रक्त शर्करा (Blood Sugar) का स्तर बढ़ा सकता है, जो मधुमेह या हाइपोग्लाइसीमिया वाले रोगियों के लिए खतरनाक हो सकता है।

रोजमेरी का प्रयोग कर आप अपने आपको किस तरह से स्वस्थ रह सकते है हमने आपको इस विषय में विस्तार से जानकारी दी है। साथ ही यह भी बताया कि किन परिस्थिति में इसके तेल का सेवन शरीर के लिए नुक्सान दायक साबित हो सकता है। तो ऊपर बताई गई सभी बातों को ध्यान रखें और स्वस्थ रहें।


You may also like...