Skin Cancer Symptoms in Hindi: क्या होते है स्किन कैंसर के लक्षण? जाने इसके बचाव

लोगों को त्वचा सम्बन्धी कई तरह की बीमारियाँ होना एक आम बात होती है पर उनमे से सबसे घातक बीमारी होती है त्वचा का कैंसर यानि की स्किन कैंसर। समय के रहते अगर आप स्किन कैंसर का उपचार नही कराते है तो इससे बचना मुश्किल हो जाता है। ऐसे में बात आती है की आप कैसे पता लगाये की कही आपको स्किन कैंसर तो नही हो रहा है। इसके लिए आपको कैंसर के शुरूआती लक्षणों के बारे में जानना बहुत जरूरी है।

आज हम आपको यहाँ पर Skin Cancer के लक्षण के बारे में बतायेंगे जो आपको ये जानने में मदद करेंगे की कहीं आप को स्किन के कैंसर का खतरा तो नही है। कैंसर के कई प्रकार होते है उनमे से एक है स्किन कैंसर जो किसी को भी हो सकता है।

साधारणत: बहुत से लोग जिन्हें कैंसर होता है वो इसके शुरूआती लक्षणों को नज़रअंदाज़ कर देते है। बहुत से केस में कैंसर के मरीज को उसकी बीमारी का पता बहुत देर से चलता है जो उसके लिए बहुत हनिकारक सिद्ध होता है।

ऐसे में हर किसी को इस बात की जानकारी होना बहुत जरूरी है की स्किन कैंसर के शुरूआती लक्षण क्या होते है, इनकी पहचान क्या है और साथ ही आप किस तरह समय पर इसका पता लगाकर इसका उपचार करा सकते है। आज के इस समय में ऐसी बहुत ही कम बीमारियाँ होंगी जिनका इलाज सम्भव न हो। स्किन कैंसर एक ऐसी बीमारी है जिसका उचित समय पर इलाज सम्भव है बस आपको सही समय पर इसका पता लगाकर डॉक्टर से इसका पूरा ट्रीटमेंट लेने की आवश्यकता होता है। जानते है Skin Cancer Symptoms in Hindi.

Skin Cancer Symptoms in Hindi: जाने स्किन कैंसर के अलग अलग प्रकार, लक्षण एवं बचाव

Skin Cancer Symptoms in Hindi

स्किन कैंसर क्या होता है :

हमारे शरीर में कई तरह के बदलाव होते है जिसके कारण हम इन चीजों को ध्यान नहीं देते है हमारे शरीर की पुरानी कोशिकाएं नष्ट होकर नई कोशिकाएं बनती है अगर यहीं कोशिकाएं असामान्य रुप से बढ़ने लगें तो यह स्किन कैंसर बन जाता है जब त्वचा की कोशिकाओ में असामान्य वृद्धि होने लगती है तो स्किन कैंसर का जन्म होता है। स्किन कैंसर किसी भी उम्र के इंसान को हो सकता है। जो लोग सूर्य के सम्पर्क में ज्यादा रहते है उन्हें स्किन कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है। साथ ही महिलाओ में स्किन कैंसर होने का खतरा पुरुषों की तुलना में ज्यादा होता है। जिनके शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती है उन्हें भी स्किन कैंसर होने का खतरा ज्यादा होता है।

स्किन कैंसर के प्रकार

यह कैंसर तीन प्रकार का होता है

  • बेसल सेल कैंसर : जो लोग धूप के सम्पर्क में ज्यादा रहते है उन्हें बेसल सेल कैंसर होने का खतरा ज्यादा होता है। आर्सेनिक या कुछ औद्योगिक प्रदूषकों के संपर्क में भी रहने से कभी-कभी बेसल सेल कैंसर हो सकता है।
  • स्क्वेमस सेल कार्सिनोमा : यह कैंसर स्किन की ऊपरी परत से शुरू होता है। यह त्वचा की कोशिकाओ में से उत्पन्न होता है जो लोग बहुत ज्यादा गोरे होते है उन्हें इस कैंसर का खतरा अत्यधिक होता है। कभी-कभी कैंसर धूप से क्षतिग्रस्त त्वचा के भीतर एक खराब पैच की तरह विकसित होता है जो सफेद, गुलाबी, पीला या भूरे रंग का होता है। जो लोग अधिक समय तक धूप के सम्पर्क में रहते है ये अधिकतर उन्हें ही होता है।
  • मेलेनोमा कैंसर : वैसे तो ये मेलेनोमा कैंसर बहुत कम लोगो में होता है पर सबसे ज्यादा खतरनाक यही कैंसर होता है। इसके कारण गले में सुजन, खुजली आदि परेशानियाँ देखने को मिलती है। इसका इलाज सही समय पर होना बहुत आवश्यक होता है।

Cancer Symptoms in Hindi

  • शरीर पर लाल चत्ते नजर आना : अगर आपको अपने शरीर पर अचानक से लाल चत्ते नजर आने लगते है और अगर 15 दिन तक भी ये चत्ते ठीक नही हो रहे हो तो आपको डॉक्टर से ज़रूर परामर्श लेना चाहिए। ये स्किन कैंसर का एक लक्षण हो सकता है।
  • मस्सो की संख्या बढने लगे या उनसे खून निकलने लगे : हमारे शरीर में अचानक से 1-2 मस्से का होना सामान्य बात है पर अगर बहुत ज्यादा संख्या में मस्से बढने लगे या अगर किसी मस्से से खून निकलने लगे तो तुरंत डॉक्टर से सलाह ले ये स्किन कैंसर की शुरुआत हो सकती है।
  • तिल में अगर खुजली होने लगे : आपके शरीर पर जो तिल हो उन पर अगर बहुत ज्यादा खुजली का अनुभव हो या आपके तिल के रंग में बदलाव होने लगे या तिल का आकार बढने लगे तो ये भी स्किन कैंसर का लक्षण हो सकता है।
  • स्किन में अगर जलन होने लगे : शरीर की त्वचा पर अगर कहीं भी बहुत ज्यादा निरंतर खुजली होने लगे तो ये स्किन कैंसर का कारण हो सकता है।
  • त्वचा पर अगर किसी भी तरह की एलर्जी होने लगे : अगर आपकी स्किन पर कोई एलर्जी होने लगे और वो बहुत समय तक ठीक न हो रही हो तो ये स्किन कैंसर का लक्षण हो सकता है।
  • अगर आपकी स्किन बहुत ज्यादा गोरी हो या आपके परिवार में किसी को स्किन कैंसर हुआ हो तो ऐसे में आपको इसके होने का ज्यादा खतरा रहता है।
  • बार बार मुंह में छालो का होना : अगर आपके मुंह में बार बार छाले हो जाते है या फिर आपके छाले बहुत समय तक ठीक न हो रहे हो तो ये स्किन कैंसर का लक्षण हो सकता है।
  • एक्जिमा : अगर आपको बार बार खुजली या दाद की शिकायत हो जाती है तो आपको डॉक्टर से परामर्श ज़रुर लेना चाहिए। बार बार एक्जिमा का होना भी स्किन कैंसर का लक्षण हो सकता है।

स्किन कैंसर से बचाव :

  • स्किन कैंसर मुख्य रूप से सूर्य की किरणों के कारण होता है तो इससे बचने के लिए सबसे जरूरी है की आप जब भी धूप में कहीं बाहर जा रहे हो तो अपने शरीर को पूरी तरह से धूप से बचाने के लिए पूरे कपड़े पहने साथ ही सनस्क्रीन लोशन या क्रीम लगाकर ही घर से बाहर धूप में निकले। ये महिला और पुरुष दोनों के लिए बहुत जरूरी है।
  • स्किन कैंसर से बचाव के लिए अपनी डाइट में विटामिन D ज़रुर शामिल करे ये आपको सूर्य की हानिकारक किरणों से बचाकर रखता है।
  • अगर आपको स्किन कैंसर का कोई भी लक्षण नजर आये तो तुरंत डॉक्टर से सम्पर्क करे। सही समय पर उपचार से स्किन कैंसर से बचाव किया जा सकता है।
  • जब भी धूप के सम्पर्क में जाये तो हो सके तो आँखों पर सनग्लास ज़रूर लगाये।
  • त्वचा पर बादाम और नारियल तेल से मालिश करें। बादाम और नारियल के तेल में प्राकृतिक तौर पर एसपीएफ होता है।

आज के लेख में आपने स्किन कैंसर से सम्बंधित उपयोगी जानकारियाँ पढ़ीं। अगर आपको भी इसके लक्षण देखने को मिलें तो इसकी पहचान कर के तुरंत इसका बचाव करें।


You may also like...