Yoga for Health in Hindi: कुछ हेल्दी योगासन जो आपको रखेगा सेहतमंद

योग जो मनुष्य के शरीर को हमेशा के लिए स्वस्थ रखने में काफी ज्यादा लाभदायक होता है और हर तरह से शरीर को सेहतमंद रखता है। योग सिर्फ एक आसन या फिर अभ्यास नहीं होता है। यह मन शांत रखता है और मिजाज को भी खुशनुमा रखता है जिससे की हर प्रकार की बीमारी और शारीरिक समस्या से आप दूर रह सकते है।

योग में कई प्रकार के आसन होते जो शरीर के अलग अलग हिस्सों को स्वस्थ रखने के लिए फ़ायदेमंद होते है। योगासन शरीर को संतुलित बनाता है तथा योगासन का अभ्यास करने से जीवन का हर पहलु संतुलित रहता है। योग शारीरिक और मानसिक दोनों प्रकार की शांति प्रदान करता है जिससे की मनुष्य स्वस्थ और सेहतमंद रह पता है।

योग करने से कई ऋषि मुनि एक दीर्घ आयु तक जीवित रहे है और साथ ही वे काफी सेहतमंद भी रहे हैं । योगासान भारत देश में तो कई शताब्दियों पुराना है लेकिन अब लोगो को समझ आया है की योग करना कितना फ़ायदेमंद है। योग करना अपने आप में ही आपको चुस्त दुरुस्त और स्वस्थ रखता है जिससे की आपको किसी भी प्रकार ही समस्या क्यों न हो वो दूर हो जाती है। चाहे वो मानसिक समस्या हो या फिर शारीरिक बस इतना ध्यान रखे की जो समस्या है उस से सम्बंधित योग करे और वो भी सही प्रकार से ।

अगर आप भी सेहतमंद रहना चाहते है और खुश रहना चाहते है तो अपने जीवन में योग को अपनाये और लम्बे समय के लिए स्वस्थ हो जाये। इस लेख में आप पढ़ेंगे Yoga for Health in Hindi जो कि हेल्थ के लिए काफी फ़ायदेमंद होते है।

Yoga for Health in Hindi: जाने हेल्थ को फायदा पहुंचने वाले योग

Yoga for Health in Hindi

स्वस्तिकासन

  • इस आसान को करने के लिए पहले अपनी मैट पर बैठ जाए।
  • अब अपने बाँये पैर को अपनी दहनी पैर की जांघ और पिंडलियों के बिच में रख ले।
  • अब अपने दाँये पैर को अपनी बायीं पैर की जांघ और पिंडलियों के बिच में रख ले।
  • ध्यान रखे की रीढ़ की हड्डी सीधी हो।
  • इस के साथ साँस खींच के अपनी शक्ति अनुसार रोके।
  • अपने हाथ सीधे अपने घुटनो पर रखे।
  • इस आसान को करने से पैरो के दर्द से भी राहत मिलेगी।
  • ध्यान करने के लिए यह बढ़िया आसान है।

गोमुखासन

  • इस आसान को करने के लिए मैट पर दोनों पैरो को सामने की ओर फैला कर बैठे।
  • अब बाँये पैर को मोड़ कर, उस पैर की एड़ी को दांये पैर के नितम्ब के पास रखे।
  • गर्दन और पीठ को सीधा रखे और अपने दोनों हाथो को पीठ के पीछे की और से पकडे।
  • इस मुद्रा में कम से कम 1 मिनट के लिए बैठे।
  • अब अपने दूसरे पैर से भी यही क्रिया दोहराये और 1 मिनट के लिए इसी मुद्रा में बैठे ।
  • जिस ओर के पैर से यह क्रिया करे उसी ओर का हाथ भी ऊपर की ओर ले ।
  • इस आसान को करने से अंडकोष में वृद्धि और आंत्र वृद्धि दोनों में फायदा होता है।
  • यह आसान धातुरोग, बहुमूत्र और स्त्री रोग में लाभदायक है।
  • यह आसान यकृत, वक्ष स्थल और गुर्दे में लाभकारी है और साथ ही गाठिया को भी दूर रखता है ।

गोरक्षासन

  • इस आसान को करने के लिए अपने दोनों पैरो की ऐड़िया और पंजे मिलाकर बैठ जाए।
  • अब अपनी सीवनी नाड़ी (गुदा और मूत्रेन्द्रिय के मध्य) को ऐड़ियो पर रखे और उस पर बैठ जाए।
  • साथ ही दोनों पैरो के घुटने ज़मीन पर टिके हुए होने चाहिए।
  • अपने दोनों हाथो को सीधा घुटनो पर रखे।
  • हाथो को घुटनो पर रखने से वे ज्ञान मुद्रा में नज़र आएंगे।
  • इस आसन को करने से मांसपेशियों में रक्त संचार अच्छी तरह से होता है और यह लम्बे समय के लिए स्वस्थ रहती है ।
  • यह आसन मूलबंध को स्वाभाविक रूप से लगाने और साथ ही ब्रह्मचर्य कायम करने के लिए लाभदायक है।
  • इस आसान को करने से इन्द्रियों की चंचलता ख़त्म होती है और साथ ही मन शांत होता है।

अर्ध्दमत्स्येन्द्र्रासन

  • इस आसान को करने के लिए पहले अपनी मैट पर दोनों पैर सामने की ओर फैला कर बैठ जाए।
  • अब अपने बाँये पैर को मोड़कर उसकी एड़ी को अपने दाँये पैर के नितम्ब के पास ले जाए।
  • अब अपने दांये पैर को बाहर की ओर मोड़ते हुए बाँये पैर के घुटने के पास रखे।
  • अपने बांये हाथ को दांये पैर के घुटने के पास रखे।
  • अब अपने दांये हाथ को पीठ के पीछे रखे और साथ ही घूमकर पीछे की ओर देखे।
  • अब इसी प्रकार से दूसरी तरफ से भी यह क्रिया दोहराये।
  • यह आसन कमरदर्द और डायबिटीज के मरीजों के लिए काफी फ़ायदेमंद है।
  • इस आसान को करने से आँखों को बल मिलता है और साथ ही पेट की समस्या भी दूर होती है।

योग मुद्रासन

  • इस आसान के लिए भी ज़मीन पर पैर सामने की ओर फैला कर बैठ जाए।
  • अब अपने बाँये पैर को मोड़कर उसे दाँये पैर की जांघ पर रखिये कुछ इस तरह से की एड़ी नाभि के नीचे आए ।
  • अब अपने दांये पैर को भी मोड़कर बाँये पैर की जांघ पर रखिये और साथ ही ध्यान रखे की इस पैर की एड़ी भी नाभि के नीचे आए।
  • अब अपने दोनों हाथो को पीछे ले जा कर बांध ले मतलब बाँये हाथ की कलाई को दांये हाथ से पकड़े।
  • फिर साँस छोड़ते हुए सामने की ओर झुके और नाक को ज़मीन से लगाने की कोशिश करे।
  • इस आसान में हाथ और पैर को बदल कर फिर करे।
  • इस आसान को करने से चेहरा सुन्दर और स्वभाव विनम्र होता है।
  • इस आसान से मन एकाग्र करने में भी फायदा मिलता है।

सर्वांगासन

  • इस आसान को करने लिए मैट पर सीधे लेट जाए।
  • अब अपने पैरो को धीरे धीरे उठाते हुए 90 डिग्री का एंगल बनाये।
  • अब अपने हाथो के बांहो की सहायता से अपनी कमर को भी पैरों के साथ ऊपर उठाने की कोशिश करे।
  • कंधे के बल खड़े होने की कोशिश करे।
  • यह आसन थायराइड को सक्रीय बनाता है और साथ ही स्वस्थ भी रखता है।
  • इस आसान को करने से मोटापा, कद में वृद्धि, दुर्बलता और थकान जैसी समस्या दूर होती है।

आप भी अपने जीवन में योग को शामिल करें और हमेशा के लिए स्वस्थ रहे। योग हर तरह से आपके लिए फ़ायदेमंद होगा। आपने ऊपर दिए हुए योग आसन के बारे में जाना और उनसे होने वाले फ़ायदों के बारे में भी जानकारी हासिल की । इन आसनो को अपनी दिनचर्या में शामिल करे जिससे आपको भी हो सकते है कई सारे फायदे।

Spread the love