Yoga for Strong Body: शरीर को मजबूत बनाने के लिए योग का अभ्यास है सबसे बेहतर

हम में से कई लोग खुद के शरीर को मजबूत बनाने के लिए जिम जाते है। जिम में जब हम व्यायाम करते है तो इससे हमारा शरीर मजबूत बनता है और शारीरिक विकास में हमें मदद मिलती है।

लेकिन क्या आप जानते है की जब आप योग करते है तो इससे ना केवल आपका शरीर मजबूत बनता है बल्कि आपको मानसिक सुकून और तनावमुक्त जीवन भी प्राप्त होता है।

शरीर को मजबूत बनाने के लिए आपको फिजिकली मजबूत होने के साथ साथ मेंटली भी तनाव मुक्त होना ज़रुरी है। यदि आप मानसिक रूप से परेशान हैं तो आप शारीरिक रूप से भी मजबूत नहीं हो सकते।

योग हमारे जीवन को सकारात्मक रूप से प्रभावित करता है। तो चलिए आज के लेख में हम जानते है Yoga for Strong Body in Hindi. किंतु एक बात का ध्यान रखें कि बिना योग विशेषज्ञ के निर्देशक के घर में योग ना करे।

Yoga for Strong Body in Hindi: योग के नियमित अभ्यास से शरीर को मजबूत बनाए

Yoga for Strong Body

तोलासन

  • इस आसन का नाम बहुत कम लोगो ने ही सुना होगा, लेकिन इसके फायदे जानने के बाद आप अपने दोस्तों को इसके बारे में ज़रूर बताएँगे।
  • तोलासन के अभ्यास से आप अपनी भुजाओं, मांसपेशियों और कलाओं को मजबूत बना सकते हैं। यह एक अकेला आसन एक साथ आपको तीन फायदे दे रहा है।
  • इसे करने के लिए पद्मासन में बैठे और अपने हाथ को बगल में रखें। अपने हाथ को ज़मीन पर दबाते हुए शरीर को ज़मीन से उठाएं
  • आपकी साँसें अपने आप जिस प्रवाह में जा रही है उसे जाने दे और कुछ सेकंड के लिए इसी मुद्रा में रहें फिर वापिस नीचे आ जाए।

वृक्षासन

  • यह आसन करने में बहुत ही सरल होता है, इस आसन में व्‍यक्ति को पेड़ की तरह खड़ा होना होता है।
  • इसे करते समय आप एक पैर पर संतुलन बनाते है इसलिए वृक्षासन करने से शरीर का संतुलन सुधरता है।
  • इसे करते समय पीठ में खिचाव आता है इसलिए इसको करने से रीढ़, कमर और पेल्विक की हड्डी मजबूत बनती है।
  • यह गठिया की समस्या से भी आपको राहत दिलाने में मददगार होता है।

भुजंगासन

  • भुजंगासन को कोबरा पोज भी कहा जाता है। इसका अभ्यास करने से सर से लेकर पैर तक कई फायदे होते है। यह शरीर को तंदरुस्त रखने के लिए बहुत ही उत्तम आसन होता है।
  • भुजंगासन को करने के लिए एक दरी को बिछा ले और फिर उस पर पेट के बल लेट जाएँ।
  • अब अपनी हथेलियों को अपनी पीठ के बराबर लेकर आएं। फिर अपने पैरों को सीधा रखे और ध्यान रखें की उनके बीच दूरी भी कम होनी चाहिए।
  • साँस को लेते हुए अपने शरीर के ऊपरी भाग को ऊपर तक उठाये। आपको अपने शरीर पर बल उतना ही लगाना है जितना आपके अंदर क्षमता है। क्षमता से ज्यादा करने का प्रयास ना करे।
  • कुछ देर तक इसी आसन में रहे और अपनी सांसो को लेते और छोड़ते रहे।
  • इस आसन को करने से शरीर को मजबूती मिलती है साथ ही शरीर सुडौल भी बनता है।

धनुरासन

  • धनुरासन भी शरीर को मजबूत बनाने में सहायक होता है। इस आसन को भी पेट के बल पर किया जाता है।
  • इस आसन में शरीर का आकार धनुष के सामान हो जाता है इसलिए इसे बो पोज के नाम से भी जाना जाता है।
  • इस आसन को करने के लिए सबसे पहले दरी पर पेट के बल ले जाए। अब साँस को छोड़ते हुए अपने घुटनो को मोड़ ले। साथ ही हाथों से तखनो को पकड़ ले।
  • साँस लेते हुए अपनी छाती को ऊपर की तरफ उठाये। यह भी आपको अपनी क्षमता के अनुसार ही करना है।
  • शरीर के भार को अपने निचले हिस्से पर लेने का प्रयास करे।
  • इसके बाद अपने शरीर को ऊपर की तरफ उठाने का प्रयास करे और अपने पैरों के बीच की दूरी को कम कर ले।
  • कुछ देर इसी स्थिति में रहें फिर अपनी प्रारंभिक स्थिति में आ जाये।
  • इस आसन को करने से मोटापा भी कम होने लगता हैं। साथ ही इससे शरीर को अन्य लाभ भी मिलते है।

उत्‍कटासन

  • उत्‍कटासन को करना थोड़ा आसान होता है इस आसन को भी करने से शरीर को मज़बूती मिलती है।
  • इसमें शरीर का आकार कुर्सी के जैसा होता है इसलिए इसे चेयर पोज के नाम से भी जाना जाता है।
  • इस आसन को करने के लिए दरी पर अपने पैरो के बीच थोड़ी दूरी बना कर बैठ जाये। इस दौरान आपके रीढ़ की हड्डी सीधी होनी चाहिए।
  • अब साँस को लेते हुए अपने पंजो के बल बैठ जाए और एड़ियों को ऊपर की तरफ उठाने का प्रयास करे।
  • अपनी दोनों कोहनियों को घुटनो पर रख ले। इसके बाद आपने एक हाँथ को दूसरे हाँथ पर रखे और उसे ठुड्डी से टिका ले।
  • अब साँस को बाहर की तरफ छोड़ते हुए अपने नितम्बो को एड़ियों पर टिका ले।
  • कुछ देर इसी स्थिति में बने रहे फिर अपनी प्रारंभिक स्थिति में आ जाए।
  • यह आसन शरीर के सभी भागों को मजबूत बनाने में मदद करता हैं।

इसके अतिरिक्त आप अधोमुख शवासन, तितली आसन के अलावा योग के कई आसन कर सकते है। सभी आपके शरीर को लचीला और मजबूत बनाने में योगदान देंगे।

योग शरीर को किस प्रकार मजबूत बनाता है?

रक्त संचार में वृद्धि

  • इससे शरीर में रक्त संचार में वृद्धि होती है, जिससे आपका शरीर स्वस्थ रहता है और आप मजबूत बनते है।
    शरीर लचीला बनता है
  • किसी भी तरह के व्यायाम से चोट लग सकती है यहाँ तक की योग से भी, किंतु योग करने से शरीर इतना लचीला बन जाता है कि हड्डियों के टूटने की सम्भावना बहुत ही कम हो जाती है।

मिलते है दो फायदे

  • योगा को करने से आपको लचीलापन और ताकत दोनों एक साथ मिल सकती है।
  • जबकि जिम करने से मांसपेशियाँ मजबूत तो होती है किंतु लचीलापन बहुत कम मिलता है।

इस तरह योग आपके जीवन में बहुत महत्व रखता है। यह आपको अनेक बीमारियों से बचा कर स्वस्थ रखता है। साथ ही यदि आप योग को नियमित रूप से करते है तो यह आपके बुढ़ापे को भी सवार देता है। आपको बुढ़ापे में भी आने वाली परेशानियों से लड़ने की शक्ति मिल जाती है और समस्याएं नहीं आती है। इसलिए योग को अपने दैनिक दिनचर्या का हिस्सा बनाये और नियमित रूप से योग का अभ्यास करे।

You may also like...