Acidity Ke Karan: तीखा खाना बन सकता है एसिडिटी की समस्या का कारण

आज के समय में ज्यादातर लोगो के काम कंप्यूटर या लैपटॉप के सामने दिन भर कुर्सियों पर बैठे बैठे होते हैं। ज्यादा समय तक बैठे रहने के कारण खाना पूरी तरह नही पच पाता हैं और पेट में जलन तथा एसिडिटी की समस्याएँ होने लगती है।

Acidity अगर कम होती है तो ज्यादातर इसे नजरंदाज कर दिया जाता है जब की ये सही नही होता है क्योंकि ज्यादातर बीमारियों की शुरुआत पेट की समस्याओं से शुरू होती है। इसलिए पेट की एसिडिटी और पेट में बनने वाली गैस को छोटी-मोटी समस्या नही समझना चाहिए। अगर आपको भी एसिडिटी की शिकायत है तो आप इसका सही उपचार करे।

बहुत से लोग खाना खाने के तुरंत बाद लेट जाते है जो एसिडिटी के बनने का सबसे मुख्य कारण है। सही समय पर खाना नही खाना भी एसिडिटी का एक कारण होता है। बहुत ज्यादा मात्रा में चाय पीना या अल्कोहल का सेवन करने के कारण भी पेट में गैस बनने की समस्या होने लगती है। गैस और एसिडिटी की परेशानी आज कल कम उम्र के लोगो में भी बहुत देखने को मिलती है। बहुत ज्यादा तला हुआ खाना खाना भी एसिडिटी होने का एक कारण हो सकता है।

जो लोग घर से दूर रहते है और बाहर का खाना ज्यादा खाते है उन्हें एसिडिटी की परेशानी ज्यादा देखने को मिलती है। कई बार एसिडिटी इतनी ज्यादा बढ़ जाती है की पेट में या सीने में बहुत दर्द होने लगता है। एसिडिटी की समस्या को खत्म करने के लिए सबसे पहले खान-पान पर ध्यान देना बहुत जरूरी है। जितना हो सके बाहर के खाने और बहुत ज्यादा मिर्ची मसाले के खाने से परहेज करना चाहिए। जानते है Acidity Ke Karan के बारे में विस्तार से।

Acidity Ke Karan: जाने एसिडिटी की समस्या के कारण, लक्षण और इसके घरेलु उपचार

Acidity Ke Karan

एसिडिटी के कारण: Acidity Causes

  • समय पर खाना नही खाना और बहुत ज्यादा देर खाली पेट रहने से पेट में गैस बनने लगती है जो एसिडिटी का कारण बनती है।
  • बहुत ज्यादा मात्रा में दवाइयों के सेवन करने से भी पेट में एसिडिटी बनने लगती है।  
  • कम मात्रा में पानी पीना भी पेट में एसिडिटी बनने का कारण हो सकता है।  
  • बहुत ज्यादा मात्रा में मिर्च मसाले का खाना खाने से पेट में अपच होने लगती है और जिसके कारण गैस बनने लगती है।  
  • फ़ास्ट फूड और जंक फूड जैसे खाने से भी पेट में एसिडिटी की समस्या होने लगती है।  
  • खान खाने के तुरंत बाद सोने से भी एसिडिटी की समस्या हो जाती है।  
  • बहुत ज्यादा धुम्रपान करने से भी गैस की समस्या होने लगती है।  
  • ज्यादा मात्रा में चाय या कॉफ़ी पीने की वजह से भी पेट में एसिडिटी की शिकायत होने लगती है।  
  • शारीरिक व्यायाम न करना भी एसिडिटी का एक कारण हो सकता है।  
  • गर्भावस्था के समय महिलाओ को एसिडिटी की शिकायत बहुत होती है।

एसिडिटी के लक्षण: Acidity ke Lakshan

  • खट्टी डकारे आना पेट में गैस बनने का एक संकेत होता है बहुत अधिक मात्रा में खाना खा लेने के कारण भी कई बार ऐसा होने लगता है।  
  • छाती और पेट में जलन होना एसिडिटी बनने का लक्षण होता है।  
  • कई बार गैस बाहर नही निकलने के कारण पेट में बहुत जोर से दर्द होने का अनुभव होता है।  
  • उलटी होना या जी मचलना गैस या एसिडिटी का संकेत हो सकता है।  
  • कब्ज की शिकायत होना भी एसिडिटी होने का संकेत हो सकता है।

एसिडिटी को दूर करने के घरेलू उपाय: Gharelu Nuskhe for Acidity

नियमित रूप से टहलें

  • एसिडिटी को दूर करने के लिए सबसे आवश्यक है की प्रतिदिन खाना खाने के बाद कम से कम 15 मिनट के लिए ठहले ज़रूर।
  • भले ही आप ऑफिस में क्यों न लंच करे पर बिना 10 मिनट घुमे वापस कुर्सी पर न बैठे क्योंकि खाना खाकर बैठ जाना ही एसिडिटी के होने का सबसे मुख्य कारण होता है।

भुना हुआ जीरा

  • पेट के लिए जीरा अच्छा माना जाता है, इससे एसिडिटी से भी आराम मिलता है।  
  • खाना खाने के बाद थोड़ा सा भुना हुआ जीरा खा लें, इससे एसिडिटी बनना कम हो जाती है।  

त्रिफला चूर्ण

  • रात में सोने से पहले त्रिफला चूर्ण एक चम्मच गुनगुने पानी के साथ में खा लें।
  • इससे एसिडिटी की समस्या से धीरे धीरे आराम मिलता है और पेट भी अच्छे से साफ़ रहता है।

एक चुटकी हिंग

  • हींग गैस और एसिडिटी की समस्या में रामवाण उपाय माना जाता है।
  • जब भी आपको लगे पेट में गैस या एसिडिटी बन रही है तो एक चुटकी हिंग को पानी के साथ ले लें।
  • इससे बहुत जल्दी गैस की समस्या से आराम मिलता है।

काला नमक

  • काला नमक भी एसिडिटी को कम करने में बहुत मददगार साबित होता है।
  • इसलिए जब भी एसिडिटी बने तब एक चम्मच काला नमक और आधा चम्मच अजवाईन की फंकी लगा ले और पानी पी ले इससे गैस में बहुत जल्दी आराम मिलता है।

Symptoms of Acidity in Hindi

एलोवेरा जूस

  • एसिडिटी और पेट में जलन होने पर एलोवेरा जूस पीना लाभदायक होता है।
  • हर दिन एलोवेरा जूस पीने वाले लोगों को पेट में एसिडिटी की समस्या नहीं होती है।
  • साथ ही एलोवेरा में एंटीबायोटिक गुण होता है जो शरीर को कई अन्य बीमारियों से बचाने में मदद करता है।

पुदीना

  • एसिडिटी में पुदीना पत्ते चबाने से पेट का दर्द कम होता है और एसिडिटी भी कम होती है।
  • पुदीने की गोली खाने से भी एसिडिटी में तुरंत आराम मिलता है।  

मीठा सोडा

  • पेट में एसिडिटी होने पर मीठा सोडा खाने से भी गैस में राहत मिलती है।
  • अगर चाहे तो मीठे सोडे को अजवाइन के साथ भी खाया जाये तो एसिडिटी में आराम मिलता है।

गुनगुना पानी

  • सुबह उठकर कम से कम 2 गिलास गुनगुना पानी पीना चाहिए इससे एसिडिटी की समस्या से निजात मिलती है।
  • पानी पीने से शरीर को सुन्दर को हेल्दी बनाया जा सकता है इसलिए ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पानी पीना स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होता है।

आंवला

  • आंवला पेट की समस्याओं को खत्म करने में सहायक होता है।
  • आँवला को आयुर्वेद में अमृत माना जाता है। आंवले की सुपारी बनाकर भी अगर इसे प्रतिदिन खाना खाने के बाद में खाया जाये तो इससे हाजमा अच्छा होता है।
  • इसके साथ ही इससे एसिडिटी और कब्ज की समस्या से भी आराम मिलता है।
  • प्रतिदिन अगर एक आंवला खाया जाये तो इससे आँखों की रौशनी भी अच्छी रहती है।

उपरोक्त उपायों की मदद से आप एसिडिटी से छुटकारा पा सकते है लेकिन यदि आपको इससे भी राहत नहीं मिल रही है तो आप डॉक्टर से ज़रूर सलाह ले।

You may also like...