Reason for Yawning: बार-बार आती है जम्हाई, तो इसके कारण जरूर जान ले

आपने अक्सर लोगो को बस स्टॉप पर इंतजार करते हुए, या फिर कभी किसी लाइन में खड़े हुए जम्हाई लेते देखा होगा। यहाँ तक की कई बार तो आपने खुद ही ऑफिस में बैठे बैठे जम्हाई ली होगी।

जम्हाई लेना बहुत सामान्य है और हम कभी इसके होने पर गौर नहीं करते है और यह सोचकर नजरअंदाज कर देते है की शायद थकान हो गयी है या फिर रात को ठीक से नींद नहीं हुई

कई बार तो ऐसा हो जाता है की आप सीरियस मीटिंग में भी जम्हाई ले लेते है, जिससे बॉस के सामने आपका बुरा इम्प्रैशन पढ़ता है। याने की जम्हाई कई बार आपको लोगो के बिच शर्मिंदा भी कर देती है।

हम आपको बताना चाहते है की यदि आपको जम्हाई लेने की समस्या लगातार बनी हुई है तो आपको इस बात पर ध्यान देना चाहिए, क्योंकि यह गंभीर बीमारी का संकेत भी हो सकता है। Reason for Yawning का रिलेशन ना केवल ब्रेन ऐक्टिविटी से बल्कि हार्ट प्रॉब्लम जैसी डिजीज से भी हो सकता है।

Reason for Yawning: ज्यादा जम्हाई आने पीछे छुपे हैं ये खतरे

Reasons for Excessive Yawning in Hindi

शरीर में ऑक्सीजन की कमी

  • विशेषज्ञों के अनुसार जब शरीर को ऑक्सीजन की पर्याप्त मात्रा नहीं मिलती तो जम्हाई आने लगती है।
  • आपको बतादे की यह सही नहीं है क्योंकि जब ऑक्सीजन की कमी हो जाती है तो इसका असर दिल, दिमाग, लिवर और किडनी पर भी पढता है।
  • इससे आपका रक्तचाप अनियंत्रित हो सकता है जो की आपके लिए नुकसानदायक है।
  • इसलिए लगातार जम्हाई आये तो इस बात पर ध्यान ज़रुर दे।

थकान के कारण

  • यदि रक्त में आयरन की कमी हो जाये तो थकान होने लगती है जिसके कारण भी जम्‍हाई आने लगती है।
  • अधिकांश लोग इसे सामान्य थकान और सुस्‍ती मानकर अनदेखा कर देते है।
  • लेकिन यदि आपको जम्हाई के साथ जरूरत से ज्‍यादा थकान आ रही है तो डॉक्टर से संपर्क करे, चिकित्सक आपको एनीमिया की जाँच के लिए कह सकते है।

थायरॉयड

  • आपको बतादे की जम्‍हाई आने के पीछे का कारण थायरॉयड भी हो सकता है।
  • दरहसल थायरॉयड धीरे-धीरे आपके मेटाबोलिज्म को नियंत्रित करने लगता है और आपको बहुत थका महसूस करवाता है।
  • थकान महसूस होने पर आपको अपने आप जम्हाई आने लगती है।
  • बार-बार जम्‍हाई आने पर आपको अपने थायरॉयड की जांच करवा ले, ताकि उचित उपचार हो सके।

शक्कर से भरपूर आहार

  • क्या आपने कभी नोटिस किया है की कुछ खाने के बाद आपको जम्‍हाई आने लगी हो।
  • दरहसल कई बार आप थका महसूस करते है तो आपका दिल कुछ मीठा खाने को करता है।
  • परन्तु शक्कर वाले खाद्य पदार्थ यहाँ तक की एनर्जी बूस्टिंग ड्रिंक भी आप पर विपरीत असर करते है।
  • इलसिए यदि मीठा खाने के बाद आपको जम्हाई आ रही तो आपको अपने आहार पर ध्यान देने की जरुरत है।

तनाव होने पर

  • आपको बता दें जब हम ज्यादा तनाव में होते है तब हमारे मस्तिष्क का टेम्प्रेचर बढ़ जाता है।
  • इससे हमारा शरीर ज्यादा जम्हाई लेने लगता है क्योंकि इससे हमारा दिमाग ठंडा हो जाता हैं और हमें ऑक्सीजन पर्याप्त मात्रा में मिलती हैं।
  • जितना हो सके रिलैक्स होने की कोशिश करे।

पानी अधिक पिए

  • हमने आपको ऊपर बताया कि अत्यधिक थकान हो जाने पर भी उबासी आने लगती है।
  • ऐसे समय में आप अधिक से अधिक पानी पिए।
  • ऐसा करने से आपका शरीर हाइड्रेट भी रहेगा और आप फ्रेश भी महसूस करेंगे। जम्हाई दूर करने का यह बहुत अच्छा तरीका है।

खुलकर ले सांस

  • शरीर में ऑक्सीजन की कमी भी जम्हाई का एक कारण है।
  • इसलिए ऐसी स्थिति में शरीर को आवश्यक ऑक्सीजन पहुँचाना जरुरी होता है।
  • ऐसी स्थिति में आप खुलकर साँस लेना शुरू करें।
  • खुलकर सांस लेते समय आप थोड़ी देर सांस को रोककर रखे और फिर उसे छोड़े।
  • ऐसा करने आपको पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन मिलेगी और आप अच्छा महसूस करेंगे।

किसी ओर को जम्हाई लेते न देखे

  • यह एक सामान्य प्रतिक्रिया अधिकतर देखी जाती है कि जब कोई व्यक्ति आपके सामने उबासी ले रहा होता है तो उसे देखकर आपको भी उबासी आने लगती है।
  • दरअसल यह एक तरह का मानसिक कारण है। अगर आपके साथ भी ऐसा ही कुछ होता है।
  • तो आपको ऐसे समय में उस व्यक्ति से ध्यान हटाना होगा जो आपके सामने उबासी ले रहा है।
  • ऐसा करना थोड़ा मुश्किल जरूर है, लेकिन ध्यान हटाने से यकीनन आपको जम्हाई नहीं आएगी।

नार्कोलेप्सी भी एक वजह

  • सुनने में नार्कोलेप्सी किसी गंभीर बीमारी का नाम लगता है, परन्तु ऐसा कुछ भी नहीं है।
  • दरअसल, दिन के अंत में अत्यधिक थका हुआ होने के कारण या थकान महसूस होने के कारण पूरा दिन सोने की कोशिश करते है। इस अवस्था को नार्कोलेप्सी कहा जाता है।
  • वैसे तो यह कोई गंभीर रोग नहीं है, लेकिन आपकी दैनिक दिनचर्या को बिगाड़ सकती है। इसलिए ऐसा होने पर चिकित्सक से सलाह ली जा सकती है।

बोरियत से बचें

  • जब हम फ्री होते है और कोई काम करने को नहीं होता है तो हम बोर होने लगते है। ऐसी परिस्थिति में जम्हाई बहुत ज्यादा आती है।
  • इसलिए अलावा यदि हम अपने काम और वातावरण में तालमेल नहीं बैठापाते है तब भी बोरियत स्वाभाविक है।
  • ऐसे में आप कुछ समय उस काम को आराम दें और वो कार्य करे जिसे करने में आपका मन लग रहा हो।

डॉक्टर्स के अनुसार

  • कुछ डॉक्टर्स के अनुसार, फेफड़े और दिल की बीमारी होने पर भी उबासी अधिक आती है।
  • उनके मुताबिक यदि आपको अस्थमा तथा दिल का फेफड़ो से सम्बंधित कोई रोग है तो इसका सही इलाज कराएं।
  • अन्यथा भविष्य में आपको अधिक समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

कई रिसर्च और रिपोर्ट्स के मुताबिक यह तो स्पष्ट हो गया है कि इंसानो और जानवरों के साथ ही अन्य कई प्रजातियां है जो उबासी लेती है। लेकिन क्या आप जानते है माँ के गर्भ में मौजूद भ्रूण भी 11 वे हफ्ते में जम्हाई लेने लगता है। यहाँ हमें आपको वो सभी कारण बताये है जिनकी वजह है अत्यधित जम्हाई हम लेते है।

Spread the love

You may also like...