शरीर को स्वस्थ बनाये रखने के लिए व्यायाम करना हमेशा अच्छा माना जाता है। प्रेगनेंसी में भी व्यायाम करना महिलाओ के लिए फ़ायदेमंद होता है|

प्रेग्नेंसी के दौरान अधिक मोटापा अच्छा नहीं होता है। व्यायाम इस दौरान आपके वजन को तो नियंत्रित रखता ही है साथ ही अन्य समस्याओ से भी राहत दिलाता है|

गर्भावस्था के दौरान प्रत्येक महिला के लिए अपनी सही देखभाल करना जरुरी होता है,जिससे की माँ और बच्चा दोनों स्वाथ्य और तंदरुस्त रहे। गर्भावस्था के दौरान व्यायाम करना मां और बच्चे दोनों के लिए ही बहुत फायदेमंद होता है।

साथ ही आपको यह भी बतादे की व्यायाम करते रहने से नॉर्मल डिलीवरी होने की सम्भावनाये भी बढ़ जाती हैं।लेकिन गर्भावस्था के दौरान कोई भी व्यायाम करने से पहले डॉक्टर की राय जरूर ले|आज के लेख में हम आपको बता रहे है Benefits of Exercise during Pregnancy.

Benefits of Exercise during Pregnancy: गर्भावस्था में व्यायाम के फायदे

Benefits of Exercise during Pregnancy

मितली, उलटी की समस्या से निजात: जो महिलाएं गर्भावस्था में व्यायाम करती है उनको मितली, उलटी और जी घबराने की शिकायत नहीं होती है।

थकान को दूर करे: गर्भावस्था में यदि आप नियमित व्यायाम से करते है तो थकान महसूस नहीं होती है और अनिंद्रा की शिकायत भी दूर हो जाती है।

प्रसव में आसानी: गर्भावस्था में नियमित व्यायाम करने से प्रसव भी आसानी से होता है।

नींद न आना: अक्सर गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को नींद न आने की समस्या हो जाती है। व्यायाम करने से नींद अच्छी आती है।

ताजगी का अनुभव: गर्भावस्था में यदि आप थोड़ा भी व्यायाम करते है तो आपको तरोताजा महसूस होता है।

गर्भावस्था में होने वाले दर्द: गर्भावस्था के समय होने वाले दर्द और तकलीफों से छुटकारा पाने के लिए व्यायाम करना अच्छा होता है।

मोटापे को दूर करने में सहायक: गर्भावस्था में मोटापे का खतरा कम करने के साथ ही नियमित व्यायाम आपको चुस्ती-फुर्ती के साथ ही अवसाद से भी दूर रखता है।

तनाव से निजात: गर्भावस्था में व्यायाम करना तनाव से दूर रखने के लिए बहुत ही आवश्यक होता है।

ऊर्जा का संचार: व्यायाम करने से ऊर्जा का संचार होता है जिससे आपके शरीर में जमा अतिरिक्त चर्बी भी दूर हो जाती है। इस दौरान हल्के-फुल्के व्यायाम करना ही अच्छा होता है।

कब्ज से छुटकारा: गर्भावस्था के दौरान कई महिलाओं को कब्ज की भी शिकायत होती है। कब्ज को दूर करने के लिए जरुरी है की 30 मिनट तक टहले। टहलने से पाचन क्रिया सही रहती है। जिससे कब्ज नहीं होता है।

शिशु को स्वस्थ रखे: व्यायाम करते रहने से रक्त का संचार अच्छे से होता है। जिससे ताजी हवा फेफड़ो तक पहुँचती है। जिस कारण आपके शरीर को और होने वाले बच्चे को बहुत फायदा होता है।