Dadi Maa ke Nuskhe in Hindi: घरेलु उपचार के ज़रिये करे अपनी बीमारियों का इलाज

आजकल जिसे देखो उसे कई सारी बीमारियों ने घेर रखा होता है लोग इन बीमारियों से राहत पाने के लिए कई तरह की दवाइयाँ लेते है और बहुत सारे लोग हॉस्पिटल और डॉक्टर्स के चक्कर काटते रहते है।

पुराने ज़माने में भी लोगों को कई तरह की बीमारियाँ होती थ। इसके उपचार के लिए आज की तरह लोगो के पास डॉक्टर्स नहीं होते थे लेकिन फिर भी उनका इलाज होता था और वे हमेशा स्वस्थ रहते थे।

इसके लिए पहले के लोग आयुर्वेद में बताये गए उपचार विधि का इस्तेमाल किया करते थे जो आज के लोगो के लिए नानी दादी के नुस्खे बन गए है। इसका इस्तेमाल लोगो को जल्द ही अपनी समस्या से राहत दिलाता है।

इस लेख में आज हम आपको बताने जा रहे की आप किन समस्याओं के लिए किस तरह के घरेलु उपचार का उपयोग करके अपने दर्द से राहत पा सकते है। इस लेख में पढ़े Dadi Maa ke Nuskhe in Hindi.

Dadi Maa ke Nuskhe in Hindi: जाने अलग अलग बीमारियों के लिए घरेलु उपचार

Dadi Maa ke Nuskhe in Hindi

Dadi Maa ke Nuskhe: पथरी के इलाज के लिए

पहला उपचार

  • पत्थरचट्टा का 1 पत्ता लें। साथ ही 4 दाने मिश्री के पीस लें।
  • इसके बाद 1 गिलास पानी के साथ दोनों चीज़ो को मिला कर पी लें।

दूसरा उपचार

  • मूली के पत्तों का रस रोज़ 2 से 3 बार पिए। ध्यान रहे की मूली के पत्तों  की 100 ग्राम मात्रा ही लेना है।

तीसरा उपचार

  • रोज़ाना 5 से 6 लीटर पानी का सेवन करे और अगर बियर का सेवन करते है तो उसे भी पिए। इस समस्या में जल्द ही लाभ मिलेगा।

Dadi Maa ke Gharelu Nuskhe: हाई ब्लड प्रेशर के लिए

पहला उपचार

दूसरा उपचार

  • चोकर युक्त खाने का सेवन करना फ़ायदेमंद साबित होता है। इस के लिए गेंहू और चने के आटे को बराबर मात्रा में मिला ले और आटे से चोकर ना निकाले।
  • इसके बाद इससे बनी रोटियों को खूब चबा चबा कर खाए। इससे ब्लड प्रेशर हमेशा कंट्रोल में रहेगा।

तीसरा उपचार

  • कई जानकारों के मुताबिक नियमित रूप से इलायची का सेवन करने से ब्लड प्रेशर काफी प्रभावित होता है और कंट्रोल में रहता है।
  • साथ ही यह शरीर में ब्लड सर्कुलेशन को सही रखने में मददगार होता है।   

डायबिटीज के लिए

पहला उपचार

  • ब्लड शुगर बढ़ी होने पर रोज़ सुबह सुबह खली पेट करेले के जूस का सेवन करे।
  • जूस बनाने के पहले करेले के सभी बीज निकाल दें।
  • ऐसा दो महीनों तक रेगुलर करे इससे ब्लड शुगर कंट्रोल में रहेगी।

दूसरा उपचार

  • 2 से 3 आंवला ले और बीज निकलने के बाद इसे अच्छी तरह से पीस लें।
  • अब इस पेस्ट को एक साफ़ कपड़े में डाले और इसका रस निकाल लें।
  • इसके बाद इसमें 1 कप पानी मिला कर इसका सेवन करे। ध्यान रखे की खाली पेट ही इसे पीना है।
  • चाहे तो इसमें 1 कप करेले के जूस और 1 से 2 चम्मच आंवले के जूस को मिला कर पी सकते है। यह ब्लड शुगर को नार्मल रखने में सक्षम है।   

तीसरा उपचार

  • रात भर के लिए 2 चम्मच मेथी दानों को भिगो कर रख दें।
  • फिर अगले दिन इन मेथी दानों को खाली पेट सुबह चबा चबा कर खाए और फिर पानी पिए।
  • चाहे तो मेथी दानों के पाउडर को दूध में मिलाकर भी पी सकते है।

खून की कमी के लिए

पहला उपचार

  • एक ग्लास मीठे दूध में बेलगिरी चूर्ण मिला लें।
  • कुछ दिनों तक रोज़ाना पिए इससे खून की कमी जल्द ही दूर होगी।

दूसरा उपचार

  • रोज़ाना एक ग्लास पानी में एक निम्बू निचोड़े और एक चम्मच शहद मिला कर पिए।

तीसरा उपचार

  • खून की कमी को शरीर में पूरा करने के लिए रोज़ाना टमाटर के जूस का सेवन करे।
  • चाहे तो टमाटर के जूस की जगह टमाटर का सूप भी पी सकते या फिर टमाटर के जूस में सेब के जूस को मिलाकर भी पी सकते है।

Dadi Maa ke Nuskhe for Babies: सर्दी जुकाम के लिए

पहला उपचार

  • सर्दी जुकाम एक बहुत ही आम समस्या है इसमें नाक बंद होने पर अजवाइन को पीस कर किसी कपड़े में बांध लें।
  • थोड़ी थोड़ी देर में इसे सूंघे इससे नाक जल्द ही खुल जाएगी।

दूसरा उपचार

  • दो चम्मच शहद में एक चम्मच निम्बू के रस को मिला लें।
  • इसके बाद इस मिश्रण को गुनगुने पानी या दूध में मिलकर पिए, इससे सर्दी में काफी लाभ होगा।

तीसरा उपचार

  • गर्म पानी में या दूध में एक चम्मच हल्दी मिलाकर पीने से सर्दी में जल्दी ही आराम मिलेगा।

सिर दर्द के लिए

पहला उपचार

  • इसके लिए सुबह खाली पेट एक एप्पल के छिलके निकाल कर काला नमक डाल कर सेवन करे।

दूसरा उपचार

  • सिर दर्द से तुरंत आराम पाने के लिए लौंग के पाउडर में थोड़ा नमक मिलाए। फिर इस मिश्रण को दूध के साथ पिए।

तीसरा उपचार

  • लहसुन की कुछ कलियों को पीस कर इसका रस निकाल लें।
  • फिर रस को पिए इससे सिर दर्द में जल्द ही आराम मिलेगा।

दस्त की समस्या होने पर

पहला उपचार

दूसरा उपचार

  • पांच ग्राम जीरा ले और इसमें पांच ग्राम सौंफ मिला लें। साथ ही अच्छी तरह पीस लें।
  • इसके बाद इस मिश्रण को एक गिलास पानी के साथ 1 चम्मच लेना चाहिए। जल्द आराम मिलेगा।

तीसरा उपचार

  • संतरे के छिलको को सूखा लें इसके बाद इसमें मुनक्का के बीज को संतरे के सूखे छिलको के साथ मिला कर चूर्ण बना लें।
  • ध्यान रखे दोनों को समान मात्रा में मिलाना है, और फिर इसे पानी में घोल कर इसका सेवन करे।

घुटनो के दर्द के लिए

पहला उपचार

  • सुबह सुबह खाली पेट एक महीने तक रोज़ सुबह अखरोट के बीजों का सेवन करे जल्द आराम मिलेगा।

दूसरा उपचार

  • 1 छोटा चम्मच सोंठ का पाउडर लें फिर इसमें सरसो का तेल मिलाए।
  • इसे एक पेस्ट की तरह तैयार कर लें और फिर इस पेस्ट को दिन में या रात में घुटनो पर लगाए।

तीसरा उपचार

  • घुटनो में दर्द होने पर रोज़ाना सूखा नारियल खाए।
  • इसी के साथ घुटनो में दिन में दो बार नारियल के तेल की मालिश करे।

अनिंद्रा की समस्या के लिए

पहला उपचार

  • रात को सोने के पहले एक कप दूध में थोड़ी दालचीनी मिला कर पीने से काफी अच्छी नींद आती है।

दूसरा उपचार

  • रात को सोने के पहले केले का सेवन करे।
  • चाहे तो इसके बाद गुनगुना दूध भी पी सकते है यह गहरी नींद प्रदान करने में सहायक होता है।

तीसरा उपचार

  • एक चुटकी जायफल को गुनगुने दूध में मिला कर पीने से नींद अच्छी आती है।
  • अगर दूध में पसंद ना आए तो इसे पानी में या फिर फलों के जूस में भी मिला कर भी पिया जा सकता है।

आज के इस लेख में हमने आपको बताए कुछ प्राचीन और आसान घरेलु उपचार जिसके माध्यम से आप बहुत सारी शारीरिक समस्याओं का उपचार कर सकते हैं और अपने आप को स्वस्थ्य रख सकते हैं। ऊपर बताये गए सभी उपाय काफी असरकारी और लाभकारी साबित होंगे।


You may also like...