Football for Stronger Bones: रोज फुटबॉल खेलेंगे तो हड्डियां नहीं होंगी कमजोर

Spread the love

हड्डी हमारे शरीर का अत्यंत महत्‍वपूर्ण हिस्‍सा है। आपकी उम्र कोई भी हो, मजबूत हड्डियां स्वस्थ शरीर की जरूरत होती हैं। आपकी हड्डिया जितनी ज्‍यादा मजबूत रहती है उतने ही ज्‍यादा आप स्‍वस्‍थ्‍य और फिट रहते है।

हड्डियों को मजबूत रखने के लिए कैल्शियम बहुत जरुरी है इसलिए हर माँ अपने बच्चे को दूध अवश्य पिलाती है ताकि बच्चो की हड्डिया मजबूत बने और उसका विकास अच्छी तरह हो पाए।

लेकिन इसके बावजूद भी कुछ बच्चो की हड्डिया इतनी कमजोर होती है कि छोटी मोटी चोट भी उन्हें प्रभावित करती है। हम आपको बताना चाहते है की हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए सिर्फ खानपान ही काफी नहीं है।

इसके लिए अपने बच्चे की दिनचर्या में फिजिकल एक्टिविटी शामिल करे। इससे बोन टिश्यू बनते है और आपकी हड्डिया मजबूत बनती है। आज हम आपको बता रहे Football for Stronger Bones, याने फुटबॉल खेलकर आप हड्डियों को कैसे मजबूत बना सकते है।

Football for Stronger Bones: आपकी हड्डियों को मजबूत बनाने में मददगार

Football for Stronger Bones

फुटबॉल के बारे में कुछ दिलचस्प बाते

  • 26 अक्टूबर 1863 में पहली फुटबॉल एसोसिएशन बनी थी।
  • फुटबॉल का पहला गेम 19 दिसंबर 1863 में पहली बार मोटरलेक में खेला गया था।
  • फुटबॉल एक बड़े स्तर पर 1905 में ओलंपिक में सामने आया।
  • फीफा (फेडरेशन इंटरनेशनल फुटबॉल एसोसिएशन) 1930 में बनी थी और इसी साल पहला वर्ल्ड कप खेला गया था।
  • फीफा का मोटो ही यही है कि फॉर द गेम, फॉर द वर्ल्ड।

फुटबॉल से मजबूत होती है हड्डिया

  • वैसे हर तरह के व्यायाम हड्डियों को मजबूत बनाते है और बढ़ती उम्र के कारण होने वाली समस्‍यायें जैसे अर्थराइटिस, ऑस्टियोपोरोसिस से निजात दिलाते है।
  • किन्तु शोध में यह साबित हुआ है कि फुटबाल खेलने वाले किशोरों की हड्डियां अन्य व्यायाम जैसे तैराकी या साइकलिंग करने वालों की तुलना में बेहतर पाई गयी।
  • क्योंकि फुटबॉल खेलना हाई इंटेंसिटी (उच्च प्रभाव व तीव्रता) वाला व्यायाम है।

क्या कहता है शोध

  • एक्जेटर विश्वविद्यालय के शोधकर्ता दिमित्रिस लाचोपोलस ने इस मामले में शोध किया था।और उनके शोध के मुताबिक फुटबाल खेलने से हड्डियों का विकास तैराकी और साइकलिंग की तुलना में ज्यादा होता है।
  • लाचोपोउलोस ने कहा, “हालांकि यह शोध हफ्ते में कम से कम नौ घंटे से ज्यादा फुटबॉल खेलने वालों पर केंद्रित है, लेकिन हफ्ते में तीन घंटे फुटबॉल खेलने से भी पर्याप्त प्रभाव पड़ सकता है.”

कितने घंटे खेलना जरुरी है?

  • शोध के मुताबिक लड़के यदि हफ्ते में केवल तीन घंटे भी फुटबॉल खेलते है तो काफी है।
  • इतने समय खेलने से भी हड्डियों के मजबूत तथा स्वस्थ रहने की संभावना बढ़ जाती है।

फुटबॉल है भारी व्यायाम

  • तैराकी व साइकलिंग ऐसे तो अच्छे व्यायाम है किन्तु हड्डी के विकास के लिए केवल इतना काफी नहीं।
  • इसके लिए भार वाले व्यायाम को शामिल करना भी जरुरी है।
  • इसलिए फुटबॉल खेलना हड्डियों के विकास के लिए फायदेमंद साबित होता है।

बच्चों से बड़ों सभी के लिए बेस्ट एक्सरसाइज

  • जहाँ आज कल बच्चे सिर्फ टीवी और कंप्यूटर के सामने बैठे रहते है ऐसे में आपको बच्चों के साथ फुटबॉल खेलना चाहिए।
  • यह बच्चों के अलावा बड़ों के लिए भी काफी फायदेमंद साबित होता है। फुटबॉल फिटनेस के लिए काफी अच्छा गेम है।
  • यह एक बेहतरीन एक्सरसाइज मानी जाती है जो कि आपकी पूरी बॉडी से वर्कआउट करवाती है।
  • यह सहनशीलता, लम्बाई, संतुलन, ताकत और स्टेमिना आदि भी सही रखता है।

दिमाग की कसरत

  • फुटबॉल एक ऐसा गेम है जिसमे आपको अपनी ताकत के साथ साथ अपने दिमाग का भी उपयोग करना पड़ता है।
  • आपको अपने दिमाग से गेम को जितना होता है।
  • इसमें आप अपने दिमाग का उपयोग बॉल को किस साइड फेकना है और कैसे गोल करना है ये सब सोच के समझ के खेलते है।
  • इसलिए यह आपके दिमाग को भी फ्रेश कर देता है जिससे आप अपनी सभी चिंता और तनाव को भूल जाते है।

टीम वर्क सिखाए

  • गेम कोई भी हो बस आउटडोर और ज्यादा खिलाड़ियों के साथ खेलने वाला होना चाहिए फुटबॉल की तरह।
  • इससे हमे टीम वर्क की प्रेरणा मिलती है।
  • यह हर प्रकार के लोगों के साथ आपको डील करना सिखाता है क्योंकि जरुरी नहीं की आपकी टीम में जो भी हो आपको अच्छा लगे लेकिन अगर आपको गेम जितना है तो आप उस इंसान के साथ मिलकर खेलते है।

माँसपेशियाँ मजबूत बनाए

  • जब हम फुटबॉल को किक करने जाते है तो हम काफी ताकत लगाते है।
  • जिससे की माँसपेशियों को ताकत मिलती है।
  • हम घूमते है, कूदते है, किक लगते है जिससे शरीर की सभी माँसपेशियाँ में ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है।

कभी भी कही भी खेल सकते है

  • फुटबॉल खेलने के लिए आपको सिर्फ जगह और बॉल की जरूरत होती है।
  • बाकि आप इसे किसी भी समय खेल सकते है।
  • यह आपके लिए काफी फायदेमंद होता है जो आपको फुल बॉडी फिटनेस देता है।

आत्मविश्वास बढ़ाए

  • फुटबॉल खेलने से सिर्फ आप फिसिकल फिट ही नहीं होते यह आपको मानसिक शांति भी प्रदान करता है।
  • खेलने से आप ये भूल जाते है कि आपको किसी तरह की कोई परेशानी है। बस आपका फोकस गेम पर हो जाता है।
  • खेल खेलने से बॉडी में एंडोर्फिन्स रिलीज़ होते है जो आपको अच्छा महसूस करवाते है और साथ ही तनाव को दूर रखते है।

फुटबॉल कार्डिओ वैस्कुलर एक्सरसाइज

  • रोज़ाना फुटबॉल खेलने से यह आपके लिए एक बहुत ही अच्छा वर्कआउट साबित होता है।
  • यह बॉडी से फैट भी बहुत जल्दी बर्न करता है।
  • यह एक कार्डिओ वैस्कुलर एक्सरसाइज के अंतर्गत आता है।
  • यह बॉडी में कार्डिओ वैस्कुलर एक्सरसाइज की तरह चुस्ती फुर्ती लाता है और इसे खेलने से पसीना भी ज्यादा आता है।

आज आपने जाना फुटबॉल खेलने से आपको किस तरह के फायदे होते है और आपको रोज़ाना फुटबॉल क्यों खेलना चाहिए। Football Fitness बनाये रखने के लिए भी बहुत अच्छा खेल है।

Loading...

Spread the love

You may also like...