Hair Loss in Children – जानिए क्या है बच्चों में बाल झड़ने के कारण

Spread the love
  • 9
    Shares

एक उम्र होने के बाद बालों का झड़ना सामान्य बात है। 30 की उम्र पार करने के बाद कई कारणों से बाल झड़ने लगते है। लेकिन कम उम्र में बच्‍चों का बाल झड़ना सामान्य नहीं है, इसपर ध्यान देने की जरुरत है।

आपको जानकारी दे की आजकल 1 वर्ष से 16 वर्ष तक के बच्चों में भी बालों की समस्या देखने को मिल रही है। पेरेंट्स बच्चो के कम उम्र में ही डेंड्रफ (रूसी), असमय सफेदी एवं बालों के झड़ने की शिकायत कर रहे है।

इसके पीछे कई कारण हो सकते है जैसे बच्चो द्वारा घर का भोजन छोड़कर जंक फूड पसंद करना, साथ ही लाइफस्टाइल में बरती जाने वाली दूसरी लापरवाहियां भी इसका कारण हो सकती है।

बच्चो के बहुत ज्यादा बाल झड़ने की स्तिथि में डॉक्टर को तुरंत दिखाए। यदि वक्त रहते ध्यान न दिया जाए तो बच्चे बचपन में ही गंजेपन का शिकार हो सकते है। चलिए आज के लेख में हम विस्तार से जानते है Hair Loss in Children.

Hair Loss in Children – बच्‍चों में बाल झड़ने की समस्‍या

Hair Loss in Children

पोषण की कमी

  • बच्चों में बालों की समस्या का मुख्य कारण पोषण की कमी है।
  • और यह समस्या सिर्फ गरीब घरो में ही नहीं पढ़े-लिखे सम्पन्न परिवारों में भी देखने को मिल रही है।
  • वक्त की कमी की के चलते बाहर खाने का ट्रेंड बढ़ा है। इससे बच्चे जंक फ़ूड जैसी चीज़ो को ज्यादा ले रहे है।
  • ऐसे में बच्चो को पर्याप्त पोषण नहीं मिलता जिसके चलते बाल झड़ने की समस्या देखने को मिलती है।

अपने हाथो से बाल धोना

  • छोटे बच्चों को शैंपू लगाने का बहुत शौक होता है और वे अपने हाथ से बाल धोने की जिद करते है।
  • बार-बार शैम्पू का प्रयोग करने से भी बाल पतले होते है और झड़ने लगते है।
  • इसलिए इस बात का ध्यान रखें कि बच्चो का शैंपू हानिकारक केमिकल से रहित हो।
  • साथ ही बच्चो को शैम्पू सिर पर डायरेक्ट न लगाते हुए पानी में मिक्स करकर लगाना चाहिए।

अनहाइजेनिक चीज़े खाना

  • छोटे बच्चो को बाहर की चीज़े बहुत पसंद आती है और वो बहुत इधर उधर की चीज़े खाने लगते है।
  • हर कही की चीज़े हाइजेनिक नहीं होती है जिसका असर बच्चों के स्वास्थ्य पर पढता है।
  • त्वचा और बालो का ख़राब होना, स्वास्थ्य के सही ना होने का संकेत देते है।
  • बच्चे का इम्यून सिस्टम कमजोर होता है जिसके चलते वे किसी भी बीमारी की चपेट में आसानी से आ जाते हैं।
  • इसी वजह से बच्चों के बाल फंगल और बैक्टीरियल संक्रमण भी झेलते हैं और तेजी से झड़ने और सफेद होने लगते हैं।

अलोपेसिया होना

  • इस समस्या में बच्चो के कुछ हिस्सों में बाल नहीं होते है।
  • इस बीमारी को बाल झड़ने का एक मुख्य कारण माना जाता है।
  • अमेरिका में 20 लाख बच्चो में अलोपेसिया की समस्या पायी गई है।
  • इस बीमारी का इलाज अगर सही समय पर करवा दिया जाए तो यह ठीक हो जाता है।
  • वरन उस जगह पर कभी भी बाल नहीं आते है।

टेलोजन एफ्लुवियम होना

  • यह भी एक प्रकार की बालों की समस्या है, जिसमें सिर की स्कैल्प पर बाल कम होते है।
  • यह बच्चों को तब होती है जब उन्हें कोई सदमा लगा हो या फिर उन्हें कोई भावनात्मक परेशानी हो।
  • एकदम तेज़ बुखार आना भी इसी का एक कारण है जिससे बाल झड़ते है।
  • वैसे बालों की वेसिक्लेस (Vesicles) काफी नाज़ुक होती है, जिस वजह से टेलोजन एफ्लुवियम के संक्रमण से बालों की ग्रोथ रूक जाती है।

त्रिकोटिलोमेनिया की समस्या होना

  • बच्चों में बालों के झड़ने की समस्या को त्रिकोटिलोमेनिया के नाम से जाना जाता है।
  • इसका असर बच्चों के बाल झड़ने के साथ साथ आँखों की भोहों पर भी पड़ता है।
  • इस समस्या में बच्चे किसी डर के कारण अपने बालों को नोचना शुरू कर देते है। इस वजह से भी बाल झड़ते है।
  • इस बीमारी का इलाज सही समय पर करवाना जरुरी होता है क्योंकि इस अवस्था में बाल जड़ से उखड़ जाते है।

टीनिया कैपिटिस

  • इस समस्या में बालों के स्कैल्प पर खुजली होती है और निशान हो जाते है जिस वजह से हेयर ग्रो नहीं हो पाते।
  • इस अवस्था में स्कैल्प पर दाद के फंफूदे हो जाते है। जो बाल झड़ने का कारण बनते है।
  • टीनिया कैपिटिस एक संक्रामक रोग है जिसका जल्द ही इलाज करवाना जरुरी होता है।
  • वैसे ज्यादातर केसेस में इस बीमारी का पता तब चलता है जब तक समस्या गंभीर न हो जाये।

बच्चों के बालों को झड़ने से रोकने के लिए

रोज़ाना मसाज करें

  • बच्चों के बालों को पूरा पोषण मिले इसके लिए उनके बालों की अच्छी तरह मालिश करें।
  • बच्चों के बालों की मालिश के लिए बादाम आयल या फिर सरसो के तेल का इस्तेमाल करे।

शैम्पू करें

  • बच्चों के बालों के लिए Hair Loss Shampoo का इस्तेमाल करें।
  • रोज़ाना शैम्पू करने से उनके बालों की ग्रोथ बढ़ेगी
  • शैम्पू करते समय बालों की अच्छी तरह मालिश करें इससे भी ग्रोथ बढ़ेगी।
  • शैम्पू करने के पहले अच्छी तरह एक बार तेल से भी मालिश करें।

बच्चों का खान पान

  • हेयर ग्रोथ के लिए जरुरी है कि आप बच्चों की डाइट का खास ख्याल रखें।
  • उनकी डाइट में आपको जूस, हरी सब्जियाँ, फ्रूट्स को शामिल करना चाहिए।
  • इसके अलावा आपको बच्चों को बादाम पीस कर खिलाना चाहिए। बदाम में Hair Growth Vitamins होते है।
  • इससे उनके बालों की ग्रोथ बेहतर होगी।

जिलेटिन का इस्तेमाल करें

  • जिलेटिन बच्चों के बालों की ग्रोथ के लिए काफी जरुरी होता है।
  • जिलेटिन को आप ठन्डे पानी में मिला लें फिर इसमें 1 चम्मच शहद और एप्पल साइडर विनेगर डालकर मिलाए।
  • इसके बाद इस मिश्रण से बच्चों के बालों पर लगाकर अच्छी तरह मसाज करें। इससे बालों की ग्रोथ जल्द ही बढ़ेगी।

अगर आप भी अपने बच्चे के झड़ते बालों की समस्या से परेशां है तो घबराएं नहीं बल्कि यहाँ बताये गए उपायों को अपनाएं और अपने बच्चे को झड़ते बालों से निजात दिलाएं।

Loading...

Spread the love
  • 9
    Shares

You may also like...