स्वस्थ रहने के लिए शरीर में तीन दोष वात, पित्त, कफ को संतुलित रहना बहुत ही आवशयक होता है। शरीर को गर्मी देने वाला तत्व ही पित्त कहलाता है। पित्त शरीर का पोषण करने के साथ ही शरीर को बल भी प्रदान करता है।

कभी-कभी उल्टी करते समय जो हरे व पीले रंग का तरल पदार्थ मुँह के रास्ते बाहर आता है उसे पित्त कहा जाता है। पित्त का शरीर से टॉक्सिन बाहर निकालने में और पाचन की क्रिया में बहुत योगदान होता है।

अग्नि तथा जल तत्व से पित्त का निर्माण हुआ है| इसलिए इसे पित्त अग्नि भी कहा जाता है और जब शरीर में अग्नि तत्व की अधिकता हो जाती है तो इसे पित्त दोष कहते है।

जब आप खट्टा, गर्म व जलन पैदा करने वाले भोजन और नशीले पदार्थों का सेवन करने लगते है तो पित्त दोष का कारण बन सकता है। इसके अतिरिक्त तला हुआ, मसालेदार भोजन से भी पित्त दोष होता है। घरेलू उपचारो से इसका इलाज संभव है आइये जानते Pitta Dosh को दूर कैसे किया जा सकता है|

Pitta Dosh को कम करने के आसान एवं प्रभावी उपायPitta Dosh

पित्त दोष को दूर करने वाले आहार

  • पित्त की समस्या में नींबू ,चुकंदर, और मूली खाना फायदेमंद माना जाता है|
  • इसके अलावा अजवाइन और गाजर भी पित्त की समस्या को दूर करते है।

व्यायाम भी लाभदायक

  • रोज व्यायाम करने से यह पित्त दोष को दूर करता है।
  • व्यायाम शरीर को स्वस्थ रखने के साथ ही शरीर में बनने वाले पित्त रस की मात्रा को भी करता है जिससे पित्त दोष नहीं होता है।

पर्याप्त पानी पिए

  • पानी शरीर को हाइड्रेट करता है। पित्त की समस्या भी यह दूर करता है|
  • शरीर में तरल पदार्थ के संतुलन को बनाने में पानी सहायता करता है।
  • पानी को गुनगुना करके पीने से ज्यादा फायदा होता है।
  • यह पाचन को ठीक रखने के साथ साथ सर्दी जुखाम जैसी समस्या को दूर करता है।

न खाएं एसिड बनाने वाले पदार्थ

  • खट्टे फल और अचार का ज्यादा सेवन करने सें बचें क्यूंकि इससे शरीर में पित्त रस ज्यादा बनता है।
  • अपने भोजन में ऐसी चीजे शामिल करे जिसमे एसिड ना होI
  • ज्यादा मसाले वाला खाना भी न खाये।

फैटी फूड्स न खाये

  • जिन चीजों में फेट हो उसे ना खाने से आप फिट भी रहेंगे और पित्त की समस्या भी नहीं होगी।
  • क्यूंकि फैटी फूड्स को पचाने के लिए हमारे पेट को ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है, जिससे शरीर को कई प्रकार के नुक्सान होते है।
  • फास्ट फूड, चिप्स और बाहर बिकने वाली तली चीजे न खाये।

धूम्रपान का त्याग करे

  • धूम्रपान शरीर के लगभग प्रत्येक अंग को हानि पहुँचाता है।
  • इससे कई प्रकार के रोग होते है साथ ही यह आसपास के लोगों के स्वास्थ्य पर भी असर करता है।
  • धूम्रपान की वजह से पित्त की समस्या होती है।

अपनी लाइफस्टाइल सुधारे

  • शरीर में जब पित्त रस की मात्रा ज्यादा होने लगती है तो कई समस्याएं उत्पन्न हो जाती है।
  • इसके लिए जरुरी है की अपनी लाइफ स्टाइल में सुधार लाये।
  • लाइफ स्टाइल को सुधारने के लिए सुबह व्यायाम कर सकते है उसके बाद नाश्ता अवश्य करे।
  • पित्त दोष को दूर करने के लिए रात को समय पर जरूर सो जाए।