Sonth Ke Fayde: कैंसर से ले कर दिल संबंधित समस्याओं तक में राहत देता है सोंठ

आप सभी ने ठंड के दिनों में कभी न कभी सोंठ की चाय पी होगी। यह सर्दी के दिनों में जुकाम और सर्दी-खांसी की समस्या को ठीक करने में बहुत मददगार होती है। इसके अलावा इसके उपयोग से बनाई गई चाय का स्वाद भी हर किसी को बहुत भाता है।

आपको बता दे की सूखी हुई अदरक (Dry Ginger) ही सोंठ कहलाती है। इसका प्रयोग कई सारी औषधियों को बनाने में किया जाता है। यह एक बहुत ही फ़ायदेमंद औषधि है क्योंकि इसमें कई तरह के गुण पाए जाते है जिससे बीमारियों की रोकथाम की जा सकती है।

आपको यह जानकर आश्चर्य होगा लेकिन सोंठ को अनगिनत बीमारियों के उपचार के लिए इस्तेमाल किया जाता है। अदरक तो हर किसी के घर में उपलब्ध होती है तो आप भी आसानी से घर पर भी सोंठ बना सकते है।

कुछ लोग Sonth को पाउडर के फॉर्म में इस्तेमाल करना पसंद करते है तो कुछ लोग इसका इस्तेमाल साबुत करते हैं। आप अपने हिसाब से इसका इस्तेमाल चुन सकते है। इन सबसे पहले अब हम यह जान लेते है की Sonth Ke Fayde क्या है?

Sonth Ke Fayde: जानिए सूखे अदरक अर्थात सोंठ से मिलने वाले ज़बरदस्त लाभ

Sonth Ke Fayde in Hindi

सोंठ के फायदे: Dry Ginger Benefits

सोंठ के अनेक असरकारी फायदे होते है जिससे कई समस्याओं को दूर किया जा सकता है, आइये जानते है इनके कुछ फ़ायदों के बारे मे।

हृदय के स्वास्थ्य के लिए बेहतर

  • सोंठ हृदय के स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होता है। सोंठ का सेवन हाइपर टेंशन को कम करती है।
  • Sonth Powder से रक्त पतला होता है जिससे ब्लड क्लॉट होने के चान्सेस कम हो जाते है।
  • यह शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को भी कम करती है। जिससे दिल का दौरा पड़ने की संभावना कम हो जाती है।

घुटने के दर्द को कम करे

  • जिन लोगो के घुटने में दर्द रहता है यदि वह लोग इसे नियमित रूप से एक साल तक लेते है तो उनके घुटने का दर्द ठीक हो जाता है।
  • दरअसल सोंठ में Gingerols नामक तत्व पाया जाता है जो की ऐंटी इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर होता है।
  • इस गुण के चलते यह शरीर में दर्द की मात्रा को कम करने में सहायक होता है।

कैंसर की संभावना कम करे

  • सोंठ में कैंसर रोधी गुण भी पाए जाते है। इसमें मौजूद तत्व कैंसर पेशी का सफाया करते है।
  • साथ ही यह गर्भाशय कैंसर की समस्या को भी कम करने में सहायक होता है।

भूख लगने में सहायक

  • भूख नहीं लगने से शरीर में कमजोरी आ जाती है। साथ ही कई अन्य समस्याएं भी होने लगती है। इसलिए भूख का लगना भी ज़रुरी होता है।
  • यदि आपको भूख नहीं लगती है तो आप इसके निवारण के लिए सोंठ का उपयोग कर सकते है। यह भूख के लिए बहुत ही लाभकारी होती है।
  • इसके उपयोग के लिए खाना खाने से पहले सोंठ का टुकड़ा ले और उसे चूस चूस कर खाये। ऐसा करने से आपकी भूख खुलती है और पेट भी अच्छा रहता है।

माइग्रेन में सहायक

  • सिरदर्द और माईग्रेन जैसी समस्याओं के लिए भी सोंठ बहुत ही लाभकारी होती है। यदि इनके कारण आपके सर के किसी हिस्से में दर्द हो रहा है तो आप सोंठ का उपयोग कर दर्द को दूर कर सकते है।
  • इसका इस्तेमाल करने के लिए एक Sunth Powder ले ले और उसे पानी की सहायता से उसका लेप तैयार कर ले।
  • इस लेप को प्रभावित स्थान पर लगाए ऐसा करने से दर्द से राहत मिलती है साथ ही यदि आप सोंठ के टुकड़े को सूंघते है तो उससे भी सिरदर्द में आराम मिलता है।

अन्य फायदे इन्हे भी जानिए:

  • सोंठ को गर्म दूध में उबाल कर फिर इसे ठंडा करके सेवन करने से हिचकी बंद हो जाती है।
  • इसका सेवन रक्त में शर्करा की मात्रा को भी नियंत्रित रखता है।
  • सोंठ पाचन क्रिया को दुरुस्त करता है। इससे गैस की समस्या से निजात मिलती है।
  • गैस और कब्ज की समस्या होने पर एक चम्मच सोंठ का पाउडर ले ले और उसे पानी में मिला ले। फिर उस पानी को उबाल ले। इसके बाद इस पानी का सेवन करे इससे गैस और कब्ज तुरंत दूर हो जाती है।
  • इसे पानी में उबाल कर ठंडा करके पीने से पसलियों के दर्द में राहत मिलती है।
  • सोंठ को शहद के साथ खाने से बुखार कम हो जाता है क्योंकि यह पसीना निकालने में सहायक होता है।
  • इसके सेवन से शरीर के विषैले पदार्थ बहार निकल जाते है जिससे शरीर का वजन भी कम होता है।
  • खांसी को दूर करने में भी सोंठ बहुत ही अहम् भूमिका निभाती है। इसके लिए एक चमच सोंठ का पाउडर ले लें और उसे मुलेठी के पाउडर के साथ उबाल ले। इस पानी को हल्का गर्म होने पर इसका सेवन करे। ऐसा करने से छाती में जमा कफ निकल जाता है साथ ही खांसी भी दूर हो जाती है।
  • एक सोंठ का पाउडर दांतो के लिए भी बहुत ही लाभकारी होता है। यह दांतो की तकलीफों को दूर करने में मदद करता है। यदि आपके मसूड़ों में सूजन है तो एक चुटकी सोंठ पाउडर को ले लें और उसमे थोड़ी सी हल्दी को मिला ले। इसे प्रभावित स्थान पर लगाए ऐसा करने से मसूड़ों की सूजन चली जाती है साथ ही यदि दांतों में दर्द की परेशानी है तो वह भी इसके उपयोग से दूर हो जाती है।

सावधानियां

  • सोंठ का ज्यादा मात्रा में उपयोग हानिकारक हो सकता है इसके ज्यादा इस्तेमाल से मुंह में जलन, दस्त और पेट में जलन की समस्या उत्पन्न हो सकती है इसलिए सोंठ का उपयोग सिमित मात्रा में ही करे।
  • इसके अधिक सेवन से एलर्जी की समस्या हो सकती है साथ ही दिल की धड़कन भी तेज हो सकती है। साथ ही दिल का दर्द भी हो सकता है।

सोंठ में वह सभी गुण पाए जाते है जो की अदरक में पाए जाते है इसलिए यह सेहत की दृष्टि से बहुत ही लाभकारी होती है। इसे आप हर मौसम में उपयोग कर सकते है, यह ख़राब नहीं होती है। साथ ही यह बाजारों में भी आसानी से उपलब्ध रहती है। आप अदरक को सूखा कर घर पर भी सोंठ को तैयार कर सकते है। साथ ही Dry Ginger Powder भी घर पर बना सकते है। इसे हवा बंद डिब्बे में भरकर रख ले और आवश्यकता होने पर इसका इस्तेमाल करे। इसे आप चाय में भी डाल सकते है यह आपको अदरक जैसा ही स्वाद देती है।


You may also like...