ट्राईजेमिनल न्यूरलजिया, इस बीमारी का नाम बहुत कम लोगो ने सुना होगा| यह बीमारी तंत्रिका तंत्र के विकार के कारण उत्पन्न होती है। इस बीमारी का चेहरे पर बहुत प्रभाव पड़ता है|

मेडिकल साइंस के अनुसार इस बीमारी दुनिया की सबसे दर्दनाक बीमारियों में गिना गया है| इसमें शरीर की मांसपेशियों में गंभीर दर्द और ऐंठन होती है| नसों को प्रभावित करने वाले यह बीमारी 15000 में से एक व्यकित को होती है|

कपालीय 12 नसों में से एक नस ट्राइजेमिनल होती है| इस नस का प्रभाव आँखों की पलक से लेकर ठुड्डी तक होता है| जब इस नस में खराबी आ जाये तो उसके कारण चेहरे और सर में भयानक दर्द होता है| इसे ही ट्राईजेमिनल न्यूरलजिया कहते है|

यह नर्व डिसआर्डर से संबंधित रोग है। इसे टिक ड्यूलोरेक्स के नाम से भी जाना जाता है| आप शायद नहीं जानते होंगे लेकिन टंग पियर्सिंग यानी जिहृ छेदन से भी यह रोग हो सकता है। आइए विस्तार से Trigeminal Neuralgia के बारे में जानते है|

Trigeminal Neuralgia क्या है और इसके लक्षण क्या है?

Trigeminal Neuralgia

ट्राईजेमिनल न्यूरलजिया बीमारी होने के कारण

  • कुछ किये गए अध्यनो में यह बात सामने आयी है की यदि कोई रक्त वाहिका अस्वभाविक रूप से बढ़ जाती है|
  • तो वो ट्राइजेमिनल नर्व पर दबाव डालती है और इसके चलते नर्व में शॉट सर्किट बन जाता है, और रोगी को दर्द होने लगता है|
  • यदि किसी बीमारी या किसी दुर्घटना के चलते नर्व दब गयी हो तब भी ये रोग हो सकता है। इसके अलावा कई बार इस बीमारी के कारण को पता लगाना ना मुनकिन भी होता है|

ट्राईजेमिनल न्यूरलजिया के लक्षण

  • इस बीमारी में शरीर के नसों में बेहद दर्द और ऐंठन होती है और इसका सबसे ज्यादा प्रभाव सिर,जबड़ों और गालों पर होता है।
  • यह खासकर उम्रदराज लोगो को होती है, इसके पीड़ित व्यकित को जहा दर्द हो रहा वो स्थान आराम से नजर आता है|
  • यह दर्द कभी भी कही भी हो सकता है खाना खाते समय, बात करते समय आदि| कभी कभार यदि हवा का तेज झोंका चेहरे के जिस हिस्से को छू जाये, चेहरे के उस हिस्से में भीषण दर्द होने लगता है।

दो प्रकार का होता है ट्राइजेमिनल न्यूरालजिया

ट्राइजेमिनल न्यूरालजिया दो प्रकार का होता है पहला टाइप 1 या  और दूसरा टाइप 2 या T2 होता है।

T1 -> इसमें अचानक थोड़ी-थोड़ी देर में तेज दर्द और जलन होती है।

T2 -> इसमें लगातार दर्द, जलन और चुभन का अहसास होता है|

सलमान को भी है यह बीमारी

मालूम हो की अभिनेता सलमान खान को भी यह बीमारी है| यह बात उन्होंने फिल्म ट्यूबलाइट के प्रमोशन ईवेंट के दौरान कही थी| सलमान ने बताया की यह बीमारी इतनी खतरनाक है की इसे सुसाइडल डिजीज भी कहा जाता है।

सलमान ने कहा इसमें इतना भयानक दर्द होता है जो असहनीय होता है| इसलिए इस बीमारी के चलते कई बार सलमान ने सुसाइड करने का विचार बना लिया था|