Types of Aerobic Exercise: जाने एरोबिक एक्सरसाइज के अंतर्गत आने वाले व्यायाम

आज के युग में पुरुष हो या महिला या फिर युवा हों या बच्चे सभी के लिए व्यायाम करना एक बहुत ज़रुरी कार्य हो गया है। व्यायाम आपके वजन को कम करने के लिए ही नहीं बल्कि आपके शरीर को स्वस्थ बनाने के साथ साथ चुस्त दुरुस्त बनाने में भी आपकी मदद करता है। हमारे खानपान में आये बदलाव और जीवनशैली में हुई परिवर्तन के कारण हमारा शरीर अब उस प्रकार से स्वस्थ नहीं रह पता है जैसे हमारे पूर्वज रहा करते थे। इसका कारण वातावरण का प्रदूषित हो जाना और आधुनिक जीवनशैली है।

बहरहाल व्यायाम करने आप अपने शरीर की कई सारी विकारों को आसानी से दूर कर सकते हैं। इसके माध्यम से आप अपने शरीर में कॉलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम कर सकते है। इससे आप भावनात्मक और शारीरिक रूप से फिट रह पाते है। लेकिन आजकल के इस व्यस्त जीवन में अपने काम को छोड़ कर व्यायाम के लिए समय निकाल पाना थोड़ा मुश्किल हो जाता है।

इस व्यस्त जीवन में भी आप कुछ ऐसे आसान व्यायाम होते हैं जिसे कर सकते हैं। ये व्यायाम दरअसल Aerobic Exercise के अंतर्गत आते हैं। एरोबिक व्यायाम को आप अपने दैनिक जीवन में किसी न किसी रूप में आराम से कर सकते है। इसके लिए आपको अलग से टाइम देने की कोई जरूरत नहीं है। फिटनेस के लिए एरोबिक्स आजकल बहुत चलन में भी है। इसका फायदे बड़े बड़े फिल्म स्टार और सेलेब्रिटी भी उठाते हैं और अपने आप को फिट रखते हैं।

एरोबिक व्यायाम के अंतर्गत आने वाले व्यायाम दैनिक जीवन से आते हैं इसलिए यह बाकी दूसरे व्यायाम जितना कठिन भी नहीं होते है। इसे कोई भी बहुत आसानी से कर सकता है और इसके नियमित अभ्यास से कोई भी अपने आप को आराम से फिट रखने में कामयाबी प्राप्त कर सकता है। तो चलिए आज के लेख में इस विषय पर जानते है Types of Aerobic Exercise के बारे में।

Types of Aerobic Exercise: जानिए एरोबिक व्यायाम के अलग अलग प्रकार की जानकारी

Types of Aerobic Exercise

एरोबिक व्यायाम दरअसल व्यायाम की एक पाश्चात्य उपचार पद्धति है। एरोबिक शब्द का वैज्ञानिक मतलब होता है “बॉडी में ऑक्सीजन की अच्छी मात्रा की मौजूदगी” अर्थात वातावरण में मौजूद फ्रेश हवा को शरीर में पहुंचाना। आइये जानते हैं Aerobic Exercise in Hindi के अलग अलग प्रकारों के बारे में।

नीचे दिए गए व्यायाम को आप आसानी से अपनी दिनचर्या में शामिल कर सकते है

  • सायकल चलना
  • एरोबिक डांस
  • स्केटिंग करना
  • रस्सी कूदना
  • दौड़ना
  • चलना
  • नौकायन
  • सिडिया चढ़ना उतरना
  • तैराकी

आइये अब जानते हैं एरोबिक व्यायाम के कुछ मुख्य प्रकारों के बारे में

Cycling: सायकलिंग करना

  • सायकल चलाना सिर्फ बच्चों के लिए नहीं होता। सायकलिंग करना एरोबिक व्यायामों के सबसे उत्तम प्रकार में से एक होता है।
  • इसे चलाने से हमारी हृदय सम्बन्धी रक्तवाहिकाओं को बहुत ज्यादा फायदा मिलता है। सायकिल चलाने से पीठ, कूल्हों और घुटनो में होने वाले दर्द से राहत मिल जाती है।

Aerobic Dance: एरोबिक डांस

  • अगर आपको डांस करना पसंद है तो आप एरोबिक डांस के जरिये अपना मनोरंजन और व्यायाम दोनों साथ साथ कर सकते है।
  • इसके अलावा यह वर्कआउट आपके हृदय को भी स्वस्थ बनाये रखने में सहायक होता है और इसे करने से आपकी बॉडी भी चुस्त दुरुस्त बनी रहती है।

Walking: चलना या घूमना

यह एक बहुत ही सरल व्यायाम है और इसे कोई भी कहीं भी और कभी भी कर सकता है। इसे आप भी आसानी और सरलता से कर सकते है। यदि आप प्रतिदिन 1 घंटे चलते है तो आपको इससे बहुत सारे लाभ मिलेंगे । जानते हैं इससे मिलने वाले लाभों के बारे में।

  • इससे पैरो की मासपेशियो को मज़बूती मिलती है।
  • रक्तचाप कम करने में भी वाक करने से सहायता मिलती है।
  • हृदय सम्बन्धी बीमारियाँ, आंतो का कैंसर आदि की संभावना बहुत कम हो जाती है।
  • डायबिटीज के रोगी को डॉक्टर भी प्रतिदिन चलने की सलाह देते है।
  • चलने से हृदय की वाहिकाओं को मज़बूती मिलती है।
  • प्रति दिन चलने से आपका वजन भी कम होता है।
  • यदि आप खाना खाने के बाद भी थोड़ा चल लेते है तो इससे आपकी पाचन क्रिया अच्छी बनी रहती है।

Running: दौड़ना

  • दौड़ने की सलाह तो हर कोई देता है और इसी कारण सुबह सुबह बहुत लोग पार्कों में दौड़ते हुए मिल जाते हैं।
  • प्रतिदिन दौड़ने से आपके शरीर में स्फूर्ति और चुस्ती आती है।
  • अगर आप दौड़ना शुरू कर रहे है तो पहले कम समय से स्टार्ट करे और फिर अपनी क्षमता के अनुसार समय बढ़ाये।

Swimming: तैराकी

  • गर्मी के दिनों में हम दौड़ने या चलने से जल्दी थक जाते है। उसकी जगह आप तैराकी व्यायाम कर सकते है।
  • तैराकी करने से आपके सम्पूर्ण शरीर का व्यायाम हो जाता है। नियमित तौर पर तैरने से ख़ास कर के पीठ, कंधे और हाथ की मांसपेशियों का बहुत अच्छा व्यायाम हो जाता है।
  • तैराकी करने से आपका शरीर लचीला बनता है साथ हीं इससे आपका वजन भी घटता है।

Sailing: नौकायन

  • यह भी एक तरह का Aerobic Workout के अंतर्गत आता है। इसे करने से पेट पीठ और ऊपरी भाग की मांसपेशियों में मजबूती आती है।
  • इस वर्कआउट को करने से हृदय सम्बन्धी बीमारियाँ नहीं होती हैं और हृदय हमेशा स्वस्थ बना रहता है।

Jump Rope: रस्सी कूदना

  • रस्सी कूदने से वजन तेजी से घटता है जिससे मोटापे से होने वाली बीमारियों से आप बच सकते है।
  • इसके अलावा रस्सी कूदने से आपका हृदय भी हमेशा स्वस्थ बना रहता है। इसलिए आपको नियमित तौर पर रस्सी कूदने का अभ्यास करना चाहिए।

Skating: स्केटिंग करना

  • स्केटिंग एरोबिक व्यायाम के अंतर्गत आने वाला एक ऐसा व्यायाम होता है जिसे स्केटिंग मशीन की मदद से करते हैं।
  • इस व्यायाम को करने में लोगों को मजा भी आता है और इससे आप चुस्त और स्वस्थ भी बने रह सकते हैं।
  • इसे करने से पैरों को मजबूती मिलती है तथा शरीर की सभी मांशपेशियों का व्यायाम हो जाता है। इससे रीढ़ की हड्डी भी बेहतर स्थिति में रहती है।
  • इससे हाथों तथा पैरों का सामंजस्य बिठाने में मदद मिलती है साथ हीं इससे दिमाग और समझने की शक्ति भी बढ़ जाती है।

आज के इस लेख में आपने जाना Types of Aerobic Exercise in Hindi इसे करने से शरीर का अतिरिक्त वसा कम होता है और हमारा वजन नियंत्रित रहता है। यदि आप अपना स्टेमिना बढ़ाना चाहते है तो इसका अभ्यास ज़रूर करे।