Acupuncture Benefits: शरीर के कुछ विशेष पॉइंट्स द्वारा करें उपचार

आज ज्यादातर व्यक्ति किसी न किसी छोटी या बड़ी बीमारी से ग्रसित है। इसके लिए ना जाने कितने सारे ट्रीटमेंट करवाए जाते है। लेकिन फिर भी बीमारी बनी रहती है जड़ से नहीं जाती। या फिर लम्बे समय तक के लिए दवाइयाँ लेनी पड़ती है।

ऐसे में एक्यूपंक्चर एक बहुत ही अच्छा इलाज माना जाता है जो आपको कई प्रकार की बीमारियों से जड़ से छुटकारा दिलाता है। इसी के साथ यह बीमारियों से राहत पाने की काफी प्राचीन उपचार विधि भी है।

इस इलाज में बॉडी के कुछ पार्ट्स को प्रेस किया जाता है जिससे की दर्द और बीमारी ख़त्म हो जाती है। एक्यूपंक्चर बॉडी में एनर्जी लेवल को बढ़ा देता है। साथ ही यह माइंड में आ रही सभी नेगेटिविटी को भी दूर करता है। बॉडी में एक्यूपंक्चर के 365 पॉइंट्स होते है।

एक्यूपंक्चर के प्रयोग से इलाज, चीन में बहुत प्रसिद्द है। भारत में इसके बारे में बहुत कम लोग जानते है। अगर आप भी किसी प्रकार की कोई समस्या से जूझ रहे है तो एक्यूपंक्चर थेरेपी का सहारा ले सकते है। पढ़े Acupuncture Benefits.

Acupuncture Benefits: जाने एक्यूपंक्चर करवाने के फायदों के बारे में

Acupuncture Benefits

क्या होता एक्यूपंक्चर?

  • यह एक बहुत ही पुरानी चीनी चिकित्सा विधि है।
  • इस चिकित्सा में बॉडी के अलग अलग अंगो के पॉइंट्स को उंगलियों से दबाया जाता है या फिर सुई चुबाई जाती है।
  • यह पॉइंट्स नसों पर होते है जिससे दर्द ख़त्म हो जाता है।
  • यह बॉडी में एनर्जी लेवल बढ़ाती है और ब्लड सर्कुलेशन बेहतर बनाये रखती है।
  • इसमें प्रयोग की जाने वाली सुई से दर्द नहीं होता है।
  • यह सुई इतनी ज्यादा पतली होती है की उसे लगाने के बाद पता भी नहीं चलता की सुई लगी है।
  • इससे बॉडी काफी जल्दी रिलैक्स होती है।

सिरदर्द में भी फायदेमंद

  • एक्यूपंक्चर का इलाज कई सारी बीमारियों को आसानी से ठीक कर देता है।
  • Acupuncture for Migraines और सिरदर्द को भी काफी जल्दी ठीक कर देता है।
  • एक रिसर्च में यह साबित हुआ है कि दवाइयों के मुकाबले अगर एक्यूपंक्चर का सहारा लिया जाए तो जल्दी और असरकारी परिणाम प्राप्त होते है।  

दांतो के दर्द के लिए

  • एक्यूपंक्चर हर प्रकार के दर्द को कम करने में काम आता है बस आपको पता होना चाहिए कि किस दर्द के लिए कौनसा पॉइंट प्रेस करना है।
  • एक्यूपंक्चर डेंटल सर्जरी और दूसरे दांत के ट्रीटमेंट में होने वाले दर्द से भी राहत दिलाता है।

स्मोकिंग छुड़वाने में फायदेमंद

इंसोमेनिया की समस्या में फायदेमंद

  • इंसोमेनिया की समस्या में लोगो को नींद ना आने की शिकायत रहती है।
  • लोग अपने काम और तनाव के चलते इंसोमेनिया से पीड़ित हो जाते है।
  • इंसोमेनिया के मरीजों के लिए एक्यूपंक्चर काफी फायदेमंद होता है।
  • इंसोमेनिया की समस्या में एक्यूपंक्चर की सुइयां सिर पर और आइब्रो के हिस्से में चुबोई जाती है।

बढ़ती उम्र के लक्षणों को रोके

  • इसके लिए अगर आप हाथों की बिंदुओं के बीच के पॉइंट्स को दबाए फायदा होगा।
  • इन पॉइंट्स को चेतना बिंदु बोला जाता है।  
  • एक्यूपंक्चर करवाने से बढ़ती उम्र का असर चेहरे पर नहीं दिखाई देता है।

सुस्ती और जी मचलाना

  • हाथो की कलाई के बीच की बिंदुओं को प्रेस करने से सुस्ती और जी मचलाने की समस्या से राहत मिलती है।
  • एक्यूपंक्चर की यह तकनीक बॉडी में ऊर्जा को बढ़ाती है जिससे सुस्ती और जी मचलाने की समस्या दूर होती है।

कई प्रकार के दर्द में फायदेमंद

  • एक्यूपंक्चर कमर, गर्दन, घुटने और अर्थराइटिस की समस्या में भी मदद करता है।
  • वैसे भी घुटनो और कमर का दर्द काफी सामान्य समस्या हो गई है।
  • इसके लिए एक्यूपंक्चर की सूंईया घुटनो और कमर में लगाई जाती है।
  • इससे इन सभी दर्द में जल्द ही लाभ मिलता है।

गर्भधारण में भी मददगार

  • एक्यूपंक्चर गर्भधारण की समस्या में भी काफी फायदेमंद साबित होने के साथ साथ असरकारी भी होता है।
  • मारिया करे और सेलिन डियोन जैसी हॉलीवुड सेलिब्रिटीज ने भी गर्भधारण के लिए एक्यूपंक्चर का सहारा लिया है।
  • यह तनाव कम करता है और युर्ट्स तक खून को सही तरह से पहुंचाता है।
  • इस वजह से यह महिलाओ को गर्भवती होने में भी मदद करती है।

Acupuncture Points in Hindi: जानिए एक्यूपंक्चर के 10 प्रमुख पॉइंट्स

जोइनिंग द वैल्ली (एलआई 4)

  • यह पॉइंट अंगूठे और इंडेक्स ऊँगली के बीच में स्थित होता है।
  • इस पॉइंट को प्रेस करने से सिर दर्द, दांत का दर्द, गर्दन का दर्द, कंधे का दर्द, आर्थराइटिस, कब्ज और हैंगओवर की समस्या दूर होगी।

पैरिकार्डियम (पी 6)

  • यह पॉइंट हथेली से दो इंच नीचे होता है।
  • इसे प्रेस करने से पेट की गड़बड़ी, बैचेनी, मोशन सिकनेस, वोमिटिंग, सिर दर्द, चेस्ट पेन जैसी समस्या में राहत मिलती है।

थर्ड ऑय (जीवि 24.5)

  • यह पॉइंट दोनों आइब्रो और नाक के ऊपर बीच में होता है।
  • इसे प्रेस करने से मानसिक शान्ति, मेमोरी पावर, स्ट्रेस, थकान, सिर दर्द, आँखों का दर्द, और नींद की बीमारी से राहत मिलती है।

सी ऑफ़ ट्रैंक्वालिटी (सीवि 17)

  • यह पॉइंट छाती के बीच में होता है।
  • इस पॉइंट को प्रेस करने से मन को शांति, एंग्जाइटी, नर्वसनेस, डिप्रेशन, हिस्टीरिया और इमोशनल प्रॉबल्म में फायदा मिलता है।

लेग थ्री मसल्स (एसटी 36)

  • इसके नाम से ही समझ आ रहा है कि यह पॉइंट लेग पर होता है।
  • यह पॉइंट घुटनो के नीचे 4 उंगलियों की दूरी पर होता है।
  • इस पॉइंट को दबाने से इनडाइजेशन, डायरिया, कब्ज़, पेट फूलना, गैस, पेट दर्द, उलटी जैसी प्रॉब्लम में फायदा मिलता है।

कमांडिंग मिडिल (बी 54)

  • यह पॉइंट घुटनो के पीछे गड्ढे वाली जगह पर होता है।
  • इस पॉइंट को प्रेस करने से बैक पेन, कमर में अकड़न, घुटनो में आर्थराइटिस, बैक और हिप्स के साथ साथ साइटिका की समस्या में लाभदायक होता है।

शेन मैन

  • यह पॉइंट कान के ऊपरी हिस्से में होता है।
  • इसे दबाने से स्मोकिंग की लत, स्ट्रेस, एंग्जाइटी, डिप्रेशन, नींद की बीमारी जैसी सभी समस्याओं में लाभ मिलेगा।

हेवनली पिलर (बी 10)

  • यह पॉइंट सिर और गर्दन के जॉइंट पर स्थित होता है।
  • इस पॉइंट को प्रेस करने से स्ट्रेस, एंग्जाइटी, थकान, हैडेक, गर्दन का दर्द और नींद की बीमारी ठीक होती है।

सैकरल पॉइंट

  • यह सभी पॉइंट्स बैक साइड रीढ़ की हड्डी के नीचे बोन टेल के पास होते है।
  • इसे दबाने से साइटिका, लोवर बैक पेन, पीरियड्स की समस्या दूर होती है।

बिगर रशिंग (लीवि 3)

  • यह पॉइंट पैर में अंगूठे और बड़ी ऊँगली के बीच में होता है।
  • इस पॉइंट को प्रेस करने से सिर दर्द, आँखों की थकान, हैंगओवर की परेशानियों में फायदा होता है।
  • इसी के साथ यह इम्यून सिस्टम को भी बेहतर बनाता है।

Acupuncture Therapy के माध्यम से केवल शारीरिक दर्द से ही राहत नहीं मिलती है बल्कि यह वजन काम करने का भी एक कारगर उपाय है। यह हर तरह से हमारे शरीर के लिए लाभकारी ही है। इसका एक फायदा पर भी है कि इसके इस्तेमाल से किसी भी तरह का साइड इफ़ेक्ट नहीं होता है।

Spread the love

You may also like...