हर किसी को कभी न कभी कब्ज की बीमारी का सामना करना पढता है| अधिकतर मामलो में ये समस्या 4-5 दिनों में खुद ब खुद ठीक हो जाती है| पर बहुत बार यह लम्बे वक्त तक परेशान करती है जिसके चलते हमारे स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पढता है|

कब्ज का मतलब होता है पेट का ठीक से साफ़ ना होना और मल त्यागने में परेशानी होना| इस कारणवश पीड़ित व्यक्ति का पेट भार रहता है और उसे भोजन करने की भी इच्छा नहीं होती है। कई लोगो को कब्ज के कारण उल्टी भी हो जाती है और सर में दर्द बना रहता है|

कब्ज की समस्या कई कारणों से होती है जैसे गलत खानपान, खाने के बाद तुरंत सो जाना आदि| यह समस्या आपके डाइजेशन सिस्टम को ख़राब करती है जिससे बीमारिया होने की संभावना बढ़ जाती है|

क्या आप इसके लिए सारे उपाय ट्राय कर चुके है पर कोई फायदा नहीं मिला? तो यह आर्टिकल आपके लिए ही है| अरंडी का तेल इस समस्या में राहत पहुंचाता है| यहाँ जानिए Castor Oil for Constipation.

Castor Oil for Constipation: कब्ज दूर करने का आसान इलाज

Castor Oil for Constipation: कब्ज़ से राहत के लिए अरंडी का तेल

कब्ज मे किस तरह फायदेमंद है अरंडी का तेल

  • अरंडी का तेल आपको बिना नुकसान पहुंचाए कब्ज की समस्या से निजात दिलाता है|
  • यह आपके द्वारा खाये गए खाने को पचने के बाद आंतो से आगे पहुंचाता है साथ ही पेट में मौजूद अपशिष्ट पदार्थों को भी बाहर निकालता है
  • दरहसल यह प्राकृतिक रेचक (Castor Oil as Laxative) के रूप में काम करता है जिससे आपका पेट साफ़ होता है और कब्ज की समस्या से निजात मिलती है|
  • अरंडी के तेल के इस्तेमाल से पाचन क्रिया भी दुरुस्त होती है|

इसका प्रयोग कैसे करे?

  1. एक गिलास गुनगुना दूध ले और उसमे 30 से 60 ग्राम कैस्टर ऑयल मिलाये|
  2. यदि आपको दूध पसंद नहीं है तो आप इसकी जगह गुनगुना पानी भी ले सकते हैं।
  3. इसके सेवन के पश्चात एक ही घंटे में ये उपचार कब्ज़ की समस्या में अपना असर दिखाता है|
  4. इससे आपके पेट का म्यूकस निकल जाएगा और आपकी भूख भी बढ़ जाएगी।

इसे कौन इस्तेमाल कर सकता है

इसे हर कोई ले सकता है| लेकिन 12 साल की उम्र से कम और 60 साल की उम्र से ज्यादा का व्यक्ति इसे ना ले| इसके अलावा गर्भवती स्त्री को इसे लेना मना है| इसके अलावा यदि आपको कोई बीमारी हो तो भी इसे मन से ना ले|

ऊपर आपने जाना Castor Oil for Constipation. इस उपचार की मदद से आप भी कब की समस्या से निजात पा सकते है| लेकिन यदि आप रक्त को पतला करने वाली, हड्डियों की, ह्रदय की बीमारी की या फिर किसी तरह की एंटीबायोटिक मेडिसिन ले रहे है तो इस उपचार का सेवन ना करे|