Causes of Pimples in Hindi: चेहरे पर मुँहासे होने की वजह

कई लोग अपनी पिंपल्स की बीमारी को लेकर काफी ज्यादा परेशान रहते है। आखिर हो भी क्यों नहीं पिंपल्स आपके चेहरे की चमक और रंगत से साथ साथ खूबसूरती भी कम कर देता है। ऐसे में लोगो कई प्रकार का इलाज करना शुरू कर देते है।

वैसे यह कोई बीमारी नहीं है समस्या को आप कई लोग मुहांसो की समस्या से भी जानते है। यह पिंपल्स की समस्या अक्सर युवाओ को ज्यादा होती है। पिंपल्स होने का मुख्य कारण होता है हॉर्मोन्स का चेंज होना।

पिंपल्स चेहरे पर तब होते है जब चेहरे के पोर्स बंद हो जाते है और आयल को निकलने के लिए रास्ता नहीं मिलता है। अगर आप डर्मेटोलोजिस्ट की माने तो युवावस्था में चेहरे पर आयल आना ज्यादा बढ़ जाता है। जिससे चेहरे पर बैक्टीरियल संक्रमण हो जाता है।

इस लेख में आज हम आपको बता रहे की आपके खूबसूरत चेहरे पर पिंपल्स होने की क्या वजह हो सकती है । इस लेख में पढ़े Causes of Pimples in Hindi.

Causes of Pimples in Hindi: Skin Par Pimple Hone ka Karan

Causes of Pimples in Hindi - skin par pimple hone ka karan

हार्मोनल चैंजेस

  • ज्यादातर पिंपल्स यंग्स्टर को होते है और इस ऐज में पिंपल्स होना काफी नॉर्मल माना जाता है।
  • क्योकि इस ऐज में हार्मोन चेंज होते है जिसका इफ़ेक्ट आपके चेहरे पर दिखना शुरू होता है।
  • हार्मोनल चेंज की वजह से हुए पिंपल्स अपने आप समय के साथ ठीक हो जाते है और किसी प्रकार का कोई निशान भी नहीं रहता है।

पाचन क्रिया में समस्या

  • अगर आप खाना अच्छी तरह नहीं पचा पाते तो इससे भी चेहरे पर पिंपल्स हो जाते है।
  • हमेशा पाचन की समस्या जिन लोगो को रहती है उन्हें मुहांसे हो ही जाते है।
  • आपको अपनी पाचन क्रिया को सुधारने के लिए संतुलित आहार लेना चाहिए।

डेरी उत्पादनो का सेवन करने से

  • अगर आप अधिक मात्रा में डेरी उत्पादनो का सेवन करते है तो उससे भी आपको पिंपल्स होने की शिकायत हो सकती है।
  • चीज़, आइस क्रीम, क्रीमी सॉस आदि प्रोडक्ट से आपको पिंपल्स की समय हो सकती है।
  • इन सभी डेरी प्रोडक्ट्स के सेवन से बॉडी में इंसुलिन की मात्रा बढ़ जाती है।
  • जिससे आपकी स्किन और ज्यादा ऑयली हो जाती है। फिर त्वचा पर ज्यादा आयल की वजह से मुहांसो की परेशानी आती है।
  • इसलिए आपको डेरी प्रोडक्ट्स का सेवन एक सीमित मात्रा में ही करना चाहिए।

रिफाइंड कार्बोहायड्रेट का सेवन

  • जो खाघ पदार्थ जल्दी पांच जाते है उन मे खासतौर पर रिफाइंड कार्बोहायड्रेट मौजूद होता है।
  • इन पदार्थो में कैंडी, कुकीज़ या व्हाइट ब्रेड आदि जैसी चीज़े शामिल होती है।
  • इसका ज्यादा सेवन करने से पिंपल्स होते है।
  • क्योकि इनका सेवन हॉर्मोन्स में उतार चढ़ाव बढ़ा देते है और साथ ही ब्लड शुगर का स्तर भी। जो आगे चलकर पिंपल्स का कारण बनते है।

कैफीन का सेवन

  • ज्यादा चाय और कॉफ़ी भी पिंपल्स का कारण बनते है।
  • कैफीन का सेवन करने से आपकी बॉडी में स्ट्रेस का लेवल बढ़ जाता है जिससे की पिंपल्स होने की आशंकाए बढ़ जाती है।
  • इसका अधिक मात्रा में सेवन स्ट्रेस हॉर्मोन को बढ़ाता है और इसी के साथ नींद को भी काफी ज्यादा प्रभावित करता है।
  • शरीर को फिर से ऊर्जा प्राप्त करने के लिए नींद की जरूरत होती है और अगर शरीर को पर्याप्त मात्रा में नींद नहीं मिल पाती है तो उससे भी पिंपल्स होते है।

चॉकलेट का सेवन

  • आप चौंक गए होंगे पिंपल्स का यह कारण पढ़ कर लेकिन यह सच है की चॉकलेट का अधिक सेवन भी पिंपल्स पैदा करता है।
  • चॉकलेट डेरी प्रोडक्ट से बना होता है, इसमें रिफाइंड शुगर होती है और साथ ही इसमें कैफीन की मात्रा भी शामिल होती है।
  • इस वजह से यह पिंपल्स को पैदा कर सकता है। इसका सीमित मात्रा में सेवन करना ही आपके लिए लाभकारी होगा।

समुद्रीय मछली का सेवन

  • पिम्पल होनी की एक वजह यह भी है, समुंद्रिय मछली जैसे झींगा, केकड़ा, क्रेफ़िश, सीप इन में आयोडीन की मात्रा काफी ज्यादा पाई जाती है जिससे की त्वचा पर पिम्पल हो जाते है।
  • इन सभी समुद्रीय मछली के सेवन को एक सीमित मात्रा में ही करना चाहिए।

पालक का सेवन

  • आप आश्र्यचकित ना हो की पालक जो की अनेक गुणों से भरपूर है वो कैसे पिम्पल का कारण हो सकता है।
  • पालक जो की काफी पौष्टिक माना जाता है वो आपको इस तरह की हानि भी पहुँचा सकता है।
  • पालक में आयोडीन की मात्रा काफी ज्यादा पाई जाती है।
  • अगर आपको पिम्पल की समस्या है तो आपको पालक का सेवन नहीं करना चाहिए।

मांस का सेवन

  • मांस से बानी चीज़े जैसे चिकन, मीट आदि का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • यह काफि गर्म होता हो जिससे की बॉडी में जलन होना शुरू हो जाती है।
  • मीट का बॉडी के पीएच लेवल को बढ़ा देता है जिसे की पिंपल्स हो जाते है।
  • और यह मीट और चिकन हो सकता है की स्‍वास्‍थ्‍यगत समस्याओं से ग्रसित हो जिसका असर आपके शरीर पर भी पड़ सकता है।
  • चीज़ो का एक सीमित मात्रा में ही सेवन करना चाहिए वो आपके लिए लाभदायक होगा।

मसालेदार भोजन का सेवन

  • अगर आपको मुहांसो की समस्या है तो आपको मसालेदार भोजन का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • ज्यादा मसालेदार भोजन से आपकी बॉडी का टेम्प्रेचर बढ़ जाता है।
  • जिससे की ज्यादा मात्रा में पसीना आता ही और यह पिंपल्स को त्वचा पर बढ़ने में मदद करता है।

ज्यादा कास्मेटिक के इस्तेमाल से

  • अगर आप अपनी त्वचा पर ज्यादा कॉस्मेटिक प्रोडक्ट का इस्तेमाल करते है तो उससे भी स्किन पर पिंपल्स आ जाते है।
  • जरुरी नहीं होता की सभी कॉस्मेटिक प्रोडक्ट आपकी स्किन को सूट हो या फिर आपकी स्किन पर कोई साइड इफ़ेक्ट ना हो।
  • अलग अलग कॉस्मेटिक कई चीज़ो से बने होते है जो त्वचा के संपर्क में आते ही पिम्पल पैदा कर देती है।

इस ऊपर दिए लेख में आज हमने आपको बताया की पिम्पल किन करने से होते और skin par pimple hone ka karan। अगर आप अपनी त्वचा की खूबसूरती खो चुके है पिम्पल की वजह से तो पहले पिम्पल होने के कारण को जाने और उसके बाद उसका सही उपचार करे।

Spread the love

You may also like...