अक्सर लोग जब उनके बच्चे छोटे होते है तो उनके दांतों पर ध्यान नहीं देते है। उनका मानना होता है की ये दूध के दांत है बाद में गिर जायेंगे। जब उसके बाद नए दांत आएंगे तब ध्यान देंगे।

लेकिन ऐसा नहीं करना चाहिए क्यूंकि यदि दूध के दांत संक्रमित होते है तो उनका प्रभाव मसूड़ों पर भी पड़ता है और वह कमजोर हो जाते है और जब नए दांत आते है तो उनकी पकड़ इतनी अच्छी नहीं रह पाती जितनी एक स्वस्थ मसूड़ों की होनी चाहिए।

इसलिए जरुरी है की बच्चे के दांतों की देखभाल शुरुवात से ही करे। यदि आप अपने बच्चो के दांतो का ख्याल शुरुवात से रखेंगे तो वह आजीवन साथ देंगे। उन्हें दांतो से सम्बंधित परेशानी नहीं उठानी पड़ेगी।

बच्चो में 3 महीनों के बाद से ही दांत निकलने शुरू हो जाते हैं। और जब बच्चा 6 वर्ष का हो जाता है तो 20 दांत होते है। कुछ बच्चो में दन्त जल्दी निकलते है और कुछ बच्चो के दांत लेट आते है। एक्सपर्ट बताते है कि बच्चों में दांतों के निकलने के साथ ही उनकी सफाई शुरू कर देनी चाहिए। तो चलिए जानते है Children Teeth Care.

Children Teeth Care: ताकि ना हो बच्चों को दांतों की समस्या

Children Teeth Care

नवजात बच्चों के मुँह की सफाई

  • जब तक बच्चे का दांत नहीं निकलता, समय-समय पर उसके मसूडों को साफ कपड़े से पोछते रहना चाहिए।
  • साथ ही सोते समय बच्चें को दूध की बोतल की जगह पानी देना चाहिए|
  • क्योंकि दूध में चीनी होने से प्लाक की संभावना बढ़ सकती है।

पहले दांत के बाद क्या करे

 4-6 दांत निकलने पर

  • जब भी आपका बच्चा ब्रश करे उस पर ध्यान रखें।
  • आप चाहे तो बच्चे को खेल-खेल में ब्रश करा सकती है।
  • आप ब्रश कराते समय यदि गाना जाती है तो बच्चे को भी अच्छा लगेगा और वो प्रतिदिन ब्रश करने लगेगा|

जब बच्चा बड़ा हो जाए

  • बच्चों को चाकलेट या कैण्डी बहुत पसंद होती है जिस कारण उनको  इन चीज़ो से दूर रखना मुश्किल होता है।
  • आपको प्रयास करना चाहिए की आपका बच्चा कम मीठा खाये। साथ ही आप अपने बच्चे को लंच में स्वास्थवर्धक आहार ही देI
  • ताकि जब भी उसे भूख लगे तो वह उल्टी-सीधी चीजें ना खायें क्योंकि स्नैक्स भी दांतों को कैण्डी जितना ही नुकसान पहुंचाते हैं।

इन बातो का भी रखे ख्याल:-

  1. जब आपका बच्चा स्कूल जाना शुरू करे, तो हमेशा उसे कुछ भी मीठा खाने के बाद पानी पीने की आदत डालवायें।
  2. बच्चो की परवरिश का ध्यान देने के साथ साथ उनके दांतो का भी ख्याल रखना जरुरी होता है।
  3. साल में एक बार डेंटिस्ट से जरूर मिलें और बच्चे को दिन में दो बार ब्रश ज़रूर करवायें।
  4. साथ ही खाना खाते समय अपने बच्चो को हाँथ धोने की आदत भी डलवाये।