Disadvantages of Quitting Gym: जाने बीच में जिम छोड़ देने के नुकसान क्या है?

खुद को फिट रखने के लिए अधिकतर लोग जिम जाते है| जब भी कोई जिंमींग करता है तो धीरे धीरे वो स्ट्रांग और फिट होने लगता है| साथ ही इससे सपूर्ण स्वास्थ्य भी अच्छा होता है|

इसलिए हो सकता है की आप भी खुद को फिट बनाने के लिए जिम ज्वाइन करने की प्लानिंग कर रहे हो| लेकिन क्या आप जिम कोई हमेशा या फिर कहे लम्बे समय तक कंटिन्यू करेंगे?

क्या आप इस बात की जानकारी रखते है की यदि जिम करना बीच में ही छोड़ दिया जाये तो इसका शरीर पर क्या प्रभाव पढता है|

आपको बता दे की यदि आप कुछ समय जिम ज्वाइन करकर उसे छोड़ने का विचार कर रहे हैं तो इससे आपके शरीर पर बुरा असर पड़ता है, यहाँ तक की आपको गंभीर बीमारियां भी हो सकती हैं। और यह बात कई अध्‍ययनों में सामने आ चुकी है। तो चलिए आज के लेख में हम जानते है Disadvantages of Quitting Gym.

Disadvantages of Quitting Gym: जिम छोड़ देने से क्या समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं?

Disadvantages of Quitting Gym

वजन बढ़ने लगता है

  • जिम जाने वाले आधे से ज्यादा लोग वहा वजन कम करने के लिए जाते है|
  • जब आप जिम में वर्कआउट करते है तो शरीर का मेटाबॉलिज्म बढ़ता है और कैलोरी जलती है|
  • लेकिन जब आप जिम जाना छोड़ देते है तो आपका मेटाबोलिज्म फिर पहले की तरह हो जाता है और वजन में बढ़ोतरी होने लगती है|

फिटनेस में कमी

  • जो लोग जिम जाते है वो बहुत फिट दिखाई देने लगते है|
  • इन्हे देखकर जिन्हे जिम की जरुरत नहीं होती है वो भी जिम जाने की प्लानिंग करने लगते है|
  • लेकिन आपको बता दे जिम छोड़ने के सिर्फ 3 महीने के बाद ही फिटनेस लेवल वापिस से खतम होने लगती है|

दैनिक जीवन पर प्रभाव पढता है

  • जब आप जिम जाते है तो एक्टिव रहते है| व्यायाम से आप प्रोडक्टिव बनते है|
  • इस दौरान आप सुबह जल्दी उठते है, अपने सारे काम सुबह सुबह निपटा देते है|
  • लेकिन जैसे ही जिम जाना छोड़ देते हैं, तो आप आलसी बनने लगते हैं।
  • आप देर तक जागते हैं और सुबह देर तक सोते हैं।
  • इससे आपका पूरा दैनिक जीवन ख़राब होता है और आप अपने शरीर में कठोरता भी महसूस कर सकते हैं।

मांसपेशियों का कमजोर होना

  • Quit the gym की क्रिया धीरे धीरे हो तो फिर भी  है पर जब आब अचानक से जिम छोड़ते हैं तो इस से माँसपेशियाँ कमजोर होने लगती है।
  • साथ ही जिम जाने वाले लोगो की क्षमता में भी कमी आने लगती है।
  • वैसे यह तो काफी ज्यादा आम बात है की अगर आप बहुत मेहनत करने के बाद अचानक से मेहनत वाला काम करना छोड़ देते है तो शरीर में कमजोरी आने लगती है।
  • साथ ही शरीर की काम करने की क्षमता भी कम होने लग जाती है।

इम्यून सिस्टम का कमज़ोर होना

  • जिम छोड़ने के बाद इम्यून सिस्टम पर काफी बुरा प्रभाव पड़ता है।
  • क्योकि जिम जाते समय तो लोग अपने खाने पीने का ध्यान रखते है।
  • लेकिन जिम छोड़ने पर इन सब बातों पर ध्यान देना बंद कर देते है।
  • जिस वजह से इम्यून सिस्टम बिगड़ने लगता है।
  • इसी के साथ डाइट में एकदम चेंज भी इम्यून सिस्टम को कमजोर बनाता है।    

दिल की समस्या

  • जिम अचानक से छोड़ देने से दिल की समस्या होने की आशंका बढ़ जाती है।
  • जिस किसी को भी पहले से हार्ट प्रॉब्लम रहती और जिम करने की वजह से बढ़ती नहीं है ।
  • तो ऐसे लोगो को जिम छोड़ना ही नहीं चाहिए।
  • और किसी कारण वश छोड़ना भी पड़े तो अचानक से न छोड़े।
  • बहुत से लोग जिम में हृदय को दुरुस्त करने वाले व्यायाम करते है। फिर जैसे ही वो लोग इसे छोड़ते है तो उनके हृदय के फिटनेस में अचानक से गिरावट आ जाती है।

तंदरुस्ती में कमी आती है

  • अचानक से जिम छोड़ने से शरीर में कमज़ोरी तो आती ही है साथ ही शरीर का फिटनेस लेवल भी गिरता चला जाता है।
  • ज्यादातर समय अपने आप को थका हुआ महसूस करते है।
  • जिम जा कर जितना अपने आप को फिट किया था जिम छोड़न के 3 महीनो के अंदर ही ये फिटनेस लेवल जल्दी कम हो जाता है।  

शरीर आलास से भर जाता है

  • जिम छोड़ने का सबसे बड़ा नुकसान यह होता है  शरीर में आलास भर जाता है।
  • जब जिम करते है तो काफी मेहनत करनी पड़ती अपने आप को फिट रखने के लिए
  • इससे आप की बॉडी पूरा दिन काफी ज्यादा एक्टिव रहती है।
  • लेकिन जिम छोड़ने के बाद धीरे धीरे किसी भी काम को करने में मन नहीं लगता है।
  • पूरी बॉडी आलास से भर जाती है जिस वजह से कोई मेहनत का काम करने की इच्छा नहीं होती है।

स्टैमिना में कमी आती है

  • शरीर को दिनभर का काम करने के लिए अच्छे स्टैमिना की जरूरत होती है।
  • जिम करने से शरीर में स्टैमिना काफी अच्छा रहता है। और छोड़ने के बाद कम हो जाता है।
  • स्टैमिना कम होने की वजह से काम भी नहीं होता पाता है।

इस लोगो को जिम नहीं जाना चाहिए

14 साल से कम वाले लोग

  • जो बच्चे 14 साल से कम है उन्हें जिम नहीं जाना चाहिए।
  • क्योकि इस उम्र में मांसपेशिया कमजोर होती है और साथ ही हड्डिया भी कमज़ोर होती है।
  • इसी के साथ नसे भी काफी नरम होती है इसलिए ज्यादा हार्ड वर्कआउट इसके लिए अच्छा नहीं होता है।
  • सिर्फ डॉक्टर की सलाह से ही बच्चो को जिम ज्वाइन करवाए।

दोपहर के समय जिम ना करें

  • वैसे जिम जाने के लिए सबसे अच्छा समय सुबह का ही होता है।
  • लेकिन आज कल लोगो की बिजी लाइफ के चलते लोग अपनी सहूलियत के हिसाब से जिम जाते है।
  • तो जिम जाने के लिए रात का और शाम का समय भी अच्छा है लेकिन दिन का 12 बजे से 4 बजे तक का समय workout routine के लिए अच्छा नहीं माना जाता है।
  • क्योकि इस समय शरीर वर्कआउट करने के लिए पूरी तरह से तैयार नहीं होता है।

45 से बड़ी उम्र के लोग

  • जो लोग 45 साल के हो गए है उनका शरीर धीरे धीरे कमज़ोर होना शुरू हो जाता है।
  • इसके बाद हड्डियों में पहले सी ताकत नहीं बचती है कमजोर होने लगती है।
  • इसलिए इस उम्र के बाद डॉक्टर की सलाह और सोच समझ के ही वर्कआउट करें।
  • ज्यादा Gym Workout  करने की कोशिश न करें।

कमर या पैरो में तकलीफ

  • अगर किसी प्रकार की कमर या पैरों की तकलीफ है तो जिम जाना छोड़ दें।
  • अगर किसी तरह की अंदरूनी बीमारी जैसे अटैक, पथरी आदि हो तो भी जिम ना जाए।

इस ऊपर दिए लेख में अपने जाना की किस तरह जिम छोड़ने के बाद बॉडी पर विपरीत परिणाम नज़र आते है। जिम करने से जितना फायदा बॉडी को मिलता है जिम छोड़ने के बाद धीरे धीरे बॉडी को उतना ही नुकसान भी पहुँचता है। इसलिए जिम छोड़ने के पहले एक बार इन सभी बातो को जरूर ध्यान रखे।


You may also like...