Natural DHT Blockers: बाल झड़ने की वजह डीएचटी को रोकने के लिए प्राकृतिक हर्ब्स

आज के जमाने में प्रदूषण और दूषित वातावरण की वजह से बालोंं को बहुत प्रकार की परेशानियां झेलनी पड़ती हैं जिसकी वजह से कई बार बाल झड़ने भी लग जाते हैं। इसी वजह से आज बहुत से लोग बाल झड़ने की समस्या को लेकर परेशान रहते है और इससे निजात के लिए प्राकृतिक तरीकों की तलाश करते हैं।

झड़ते बालोंं का झड़ना बंद करने के लिए बाजार में कई उत्पाद मौजूद हैं जिसका इस्तेमाल अक्सर लोग करते हैं पर इन उत्पादों में ज्यादातर किसी प्रकार के लाभ नहीं पहुँचाते हैं बल्कि कई बार नुक्सान पहुंचा देते हैं और यह कोई आश्चर्य वाली बात भी नहीं है, क्योंकि बालोंं को झड़ने से रोकने के लिए बनाई गयी ज्यादातर उत्पादों और दवाओं से कई प्रकार साइड इफेक्ट्स देखने को मिलते है।

अधिकांश लोगों के बालों के झड़ने का मुख्य कारण DHT Hair Loss होता है। इसके कारण आपके बाल पतले होते जाते है । जब 5 अल्फा Reductase एंजाइम, टेस्टोस्टेरोन से प्रत्रिक्रिया करते है तो इस प्रकार गठित डीएचटी हेयर फॉलिकल से रक्तसंचार को कम कर देता है, परिणाम स्वरुप बाल झड़ने लगते है।

DHT Blocker (डीएचटी ब्लॉकर्स) DHT के उत्पादन को कम करते है। लेकिन जैसा की हमने बताया की लोग प्राकृतिक चीज़ो को ज्यादा बढ़ावा दे रहे है। तो आज हम Natural DHT Blockers के बारे में बात करेंगे।

Natural DHT Blockers: बालोंं का झड़ना कम करने में मदद करेगा प्राकृतिक डीएचटी ब्लॉकर्स

Natural DHT Blockers

सॉ पाल्मेटो

  • सॉ पाल्मेटो सबसे लोकप्रिय प्राकृतिक डीएचटी अवरोधक है इसे Best DHT Blocker भी माना जाता है ।
  • यह बालोंं के झड़ने से रोकने या इसकी गति को धीमा करने में फ़ायदेमंद साबित हुआ है।
  • सॉ पाल्मेटो का नियमित उपयोग, 5-अल्फा-रिडक्टेस को ब्लॉक करता है।
  • यूरोप में इसे हेयर लॉस ट्रीटमेंट को लेकर मंजूरी मिली है।
  • ऐसे तो इसका कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं है लेकिन कुछ लोगो में इसके हलके दुष्परिणाम जैसे पेट ख़राब होना आदि देखने को मिला है।

पम्पकिन सीड आयल

  • पम्पकिन सीड आयल, लिवर के माध्यम से डीएचटी को तोड़ने का कार्य करता है।
  • कद्दू में वाइटल जिंक मौजूद होता है जो बालों को मजबूत बनाता है और 5-अल्फा-रिडक्टेस के एक्शन को रोकता है।

ईएमयू तेल का करे उपयोग

  • 100% प्राकृतिक ईएमयू तेल में उच्च मात्रा में लिनोलेनिक एसिड होता है।
  • कुछ शोध ने यह साबित हुआ है की लिनोलेनिक एसिड एक माइल्ड एंटीएण्ड्रोजन है।
  • इसका इस्तेमाल कभी कभी मुहांसो को ठीक करने के लिए भी किया जाता है।
  • हालांकि यह सबसे अच्छा डीएचटी अवरोधक नहीं है, लेकिन कई मामलो में देखा गया है की इससे बालों का अच्छा विकास हुआ है।
  • यह तेल ज्यादा चिकना है और रात को सोते समय इसका इस्तेमाल किया जा सकता है।

ग्रीन टी का सेवन

  • कुछ शोधों में यह साबित हुआ है की हरी चाय में मौजूद एक कॉम्पोनेन्ट Epigallocatechin 3 Gallate (ईजीसीजी), डीएचटी के गठन को ब्लॉक करता है।
  • हार्वर्ड मेडिकल स्कूल में, वैज्ञानिकों की एक टीम ने जर्नल ऑफ नुट्रिशन में रिपोर्ट किया है की हरी चाय से रक्त में DHT और टेस्टोस्टेरोन कॉन्सेंट्रेशन में काफी कमी आई है।

रोजमेरी

  • कुछ शोधों के मुताबिक रोजमेरी, मिनोक्सिडिल की तुलना में हेयर लॉस को कम करने में ज्यादा असरदार है।
  • आप इस तेल का इस्तेमाल किसी बेस आयल के साथ मिलाकर कर सकते है।
  • इसके साइड इफेक्ट्स भी बहुत कम है।

अलसी का बीज

  • अलसी का बीज भी एक बहुत अच्छा डीएचटी ब्लॉकर होता है। इसमें उच्च मात्रा में फैटी एसिड पाया जाता है।
  • अलसी का सेवन करने से बालोंं की ग्रोथ अच्छे से होती है और बाल झड़ना भी कम हो जाते है।
  • एक अध्ययन में पाया गया है की अलसी के बीज प्रोस्टेट वजन (Prostate Weight) घटाने के साथ-साथ टेस्टोस्टेरोन के स्तर को कम करने में भी मदद करता है।

तिल के बीज का सेवन

  • अलसी के बीज की तरह भी तिल के बीज भी बहुत अच्छे डीएचटी ब्लॉकर होते है।
  • इसमें भी Lignans पाया जाता है और यह 5-अल्फा-रेडक्टेज के अवरोधक होते है।
  • तिल के बीज को आसानी से अपने आहार में शामिल किया जा सकता है। यह बालोंं के लिए बहुत ही फ़ायदेमंद होते है।
  • इसका सेवन करने के लिए आप तिल के तेल का भी उपयोग कर सकते है। इसके लिए सलाद या फिर सुप में भी इसके तेल की कुछ बूंदो को डाला जा सकता है।
  • साथ ही अपने खाने में भी तिल के तेल और इसके बीजो को शामिल कर सकते है।

उपर्युक्त उपायों को अपने दैनिक जीवन में शामिल करे। यह आपके बालोंं के लिए बहुत ही लाभकारी रहेंगे। साथ ही बालोंं की समस्याओं को दूर करने में भी आपकी मदद कर सकते है।

बालोंं से जुड़ी आवश्यक जानकारी

  • बाल झड़ने की समस्या को कम करने के लिए अपने आहार पर ध्यान दे, यह बहुत ही ज़रुरी होता है। यदि आप सही मात्रा में आहार नहीं लेते है तो आप गंजापन के भी शिकार हो सकते है क्योंकि बालोंं को विटामिन और मिनरल्स की आवश्यकता होती है जिसकी पूर्ति आप आहार के जरिये कर सकते है।
  • इसके अतिरिक्त बाजार में कई प्रकार के डीएचटी ब्लॉकर के सप्लीमेंट भी उपलब्ध है जिनका उपयोग भी किया जा सकता है परन्तु जब भी आप इनका उपयोग करे तो इसके लिए किसी विशेषज्ञ से जानकारी ज़रूर ले ले। क्योंकि हर किसी के बालोंं की समस्याएं भी अलग अलग होती है। आप अपनी समस्या के अनुरूप ही इसका सेवन करे ताकि इसका सही लाभ मिल सके।
  • आहारों के अतिरिक्त बालोंं की देखभाल भी जरूरी होती है। इसलिए अपने बालोंं का भी खास ख्याल रखे। उनकी नियमित रूप से सफाई करे। सही शेम्पू का इस्तेमाल करे। रासायनिक उत्पादों को बालोंं पर कम से कम उपयोग करे। यह बालोंं के लिए हानिकारक होते है। बालोंं को नियमित रूप से मसाज करे और तेल का भी उपयोग करे।
  • पर्याप्त मात्रा में पानी पीये यह भी बालोंं की चमक और घना बनाने में मदद करता है साथ ही बालों को स्वस्थ्य भी रखता है जिसके कारण बाल गिरना कम हो जाते है।
  • पूरी नींद न होने के कारण भी बालोंं की समस्या होती है। इसके कारण भी बाल गिरने लगते है और गंजापन आता है। इसलिए प्रतिदिन पर्याप्त नींद लेना ज़रुरी होता है साथ ही तनाव और चिंता को भी दिमाग से दूर रखना चाहिए यह भी आपके बालोंं को नुकसान पहुँचाते है।

जितना हो सके बालोंं के लिए प्राकृतिक चीजों का उपयोग करे क्योंकि यह डीएचटी के उत्पादन को कम करने में मदद करते है। साथ ही यह आपके बालोंं का भी खास ख्याल रखते है। इनके उपयोग से बालोंं को हानि भी नहीं होती है और बालोंं को पोषण भी मिलता है। इसलिए उपरोक्त चीजों का इस्तेमाल करे और यह जानकारी अपने शुभचिंतकों को भी दे ताकि वह भी आपकी तरह इस जानकारी का लाभ उठा सके और गंजेपन से अपने बालोंं को बचा सके।


You may also like...