बहुत से पति कहते है की उनकी वाइफ का स्वभाव कभी तो बहुत ही अच्छा तो कभी बहुत बुरा होता है| उनके इस तरह के स्वभाव से वे परेशान हो जाते है और उन्हें समझ नहीं पाते|

हम आपको बात दे की उनका यह स्वभाव उनके दिमाग के कारण होता है| दरहसल महिलाओ में कई ऐसी मानसिक समस्या होती है जो उन्ही में देखने को मिलती है, यह पुरुषो में नहीं होती है|

दरहसल यह समस्या केवल आपके पत्नी के साथ ही नहीं है अधिकतर महिलाओ में मानसिक स्वास्थ्य की समस्या होती है| इसके पीछे की वजह महिलाओ पर घर और बाहर दोनों की जिम्मेदारी होती है, जिस वजह से वो तनाव में आ जाती है|

विश्व स्वास्थ संगठन के अनुसार तो हर तीसरी महिला किसी ना किसी मानसिक समस्या से घिरी है| जिसके पीछे कई सारे सोशल और बायोलॉजिकल फैक्टर्स जिम्मेदार है| आइये आज के लेख में विस्तार से Women’s Mental Health Issues के बारे में जानते है|

Women’s Mental Health Issues: महिलाओं का मानसिक स्वास्थ्य

Women's Mental Health Issues

डिमेंशिया – सोचने की शक्ति पर पढता है असर

  • अधिकतर महिलाएं डिमेंशिया का शिकार होती हैं।
  • उम्र बढ़ने के साथ साथ महिलाओ में इसके होने की संभावना बढ़ती है|
  • इस समस्या में दिमाग के कुछ सेल्स नष्ट होने लगते है, जिसके चलते कुछ सेल्स के बिच संचार नहीं हो पाता|
  • इस वजह से सोचने की क्षमता कम होने लगती है और कुछ याद नहीं रहता है|

एंजाईटी डिसऑर्डर – डरना और परेशान होना

  • इंटरव्यू से पहले घबराहट होना, स्टेज पर बोलने से डरना, परीक्षा से पहले परेशान यह बाते अधिकतर लोगो में होती है|
  • लेकिन महिलाओ में यह समस्या ज्यादा कॉमन है|
  • कुछ महिलाओ में ऐसी सिचुएशन में इतनी ज्यादा नर्वस होती है, उनका यह दर एंजाईटी में बदल जाता है|
  • जब यह समस्या लगातार बनी रहती है तो धीरे धीरे एंजाईटी डिसऑर्डर में बदल जाती है|

चिंता – जीवन के प्रति नकारात्मकता लाती है

  • देखा गया है महिलाओ में पुरुषों की तुलना में ज्यादा तनाव और चिंता होती है|
  • जब महिला पर घर और बाहर दोनों की जिम्मेदारी आ जाती है तो उसे बहुत थकान होती है|
  • और रोज रोज यह थकान उसके चिंताग्रस्त होने का कारण बन जाती है|
  • वैसे तो चिंता ग्रस्त कोई इतनी भी बड़ी बात नहीं है, लेकिन इसके कारण महिलाओ में नाकारात्मक ऊर्जा भरने लगती है|

ऊपर बताई गयी बीमारियों के अलावा महिलाओ में बाईपोलर डिसऑर्डर, डिप्रेशन, एनोरेक्सिया नर्वोसा, बुलिमिया नर्वोसा, स्किज़ोफ्रेनिया, इटिंग डिस्‍ऑर्डर, तनाव आदि समस्याए हो जाती है|

इन समस्याओं से दूर रहने के लिए महिलाये क्या करे?

  1. हमेशा खुश रहें और ज्यादा तनाव ना ले|
  2. अपने खान पान का अच्छे से ध्यान रखें।
  3. अपनी परेशानियों को बोलना सीखे, मन में बात ना रखे और एक्सप्रेसिव बनें|
  4. पूरा वक्त केवल फॅमिली के लिए नहीं है, अपने दोस्तों के साथ भी वक्त बिताये|