Home Remedies for Ulcer: अल्सर की समस्या से निजात पाने के लिए अपनाएं घरेलू उपचार

अल्सर पेट से जुड़ी एक सामान्य बीमारी होती है जिसे लोग आम भाषा में पेट का छाला भी कहा करते हैं। यह कई प्रकार का होता है जैसे अमाशय का अल्‍सर, पेप्टिक अल्‍सर या गैस्ट्रिक अल्‍सर इत्यादि।

कई शोधकर्ताओं के द्वारा किये गए शोधों के अनुसार ज्यादातर अल्सर एक प्रकार के जीवाणु हेलिकोबैक्टर पायलोरी या एच. पायलोरी द्वारा होता है। आपके पेट में अल्‍सर तब बनते हैं जब खाने को पचाने वाला अम्ल अमाशय की दीवार को नुकसान पहुँचाता है।

वैसे तो Ulcer होने के पीछे का मुख्य कारण हेलिकोबैक्टर वायरस है। लेकिन इसके अलावा यह पोषण की कमी, तनाव और गलत लाइफ-स्‍टाइल के कारण भी होता है।

लोग Ulcer Symptoms देखने के बाद भी इसे एक सामान्य समस्या समझकर छोड़ देते है और किसी प्रकार का Ulcer Treatment नहीं करवाते हैं। लेकिन यदि इसका का इलाज समय पर नही किया जाए तो यह गंभीर समस्‍या का रूप ले लेता है। इसकी परेशानी होने पर लोगो को पेट में बहुत दर्द होता है। तो चलिए आज के लेख में हम आपको बता रहे है Home Remedies for Ulcer.

Home Remedies for Ulcer: पाएं पेट के छालों से जल्द छुटकारा

Home Remedies for Ulcer

सहजन (Drum Stick)

  • सहजन में एंटी बैक्टीरियल गुण मौजूद होते हैं जिससे यह रोगों से लड़ने में मददगार होती है।
  • सहजन की फली स्वास्थ्य के लिहाज से बेहद फ़ायदेमंद है। यह Ulcer Diet के रूप में भी जाना जाता है। सहजन के फायदे आप यहाँ जान सकते है।

उपयोग विधि

  • अल्सर रोग में आराम पाने के लिए सहजन की फली को पीसकर, दही के साथ मिलाकर इसका सेवन करना चाहिए।

केला (Banana)

  • पेट के छाले याने की अल्सर के लिए केला खाना बहुत फ़ायदेमंद होता है और यह Ulcer Medicine की तरह कार्य करता है।
  • क्योंकि केले में एंटीबैक्टीरियल गुण मौजूद होते है जो पेट में अल्सर बढ़ाने वाले Pylori कंपाउंड को बढ़ने नहीं देते।
  • केला पेट की परत को मजबूत बनाता है साथ ही एसिडिटी और गैस से भी बचाता है।

उपयोग विधि

  • अल्सर के उपचार के लिए रोज 2 केले खाने चाहिए।
  • यदि आपको डायरेक्ट केला खाना पसंद नहीं है तो आप केले का मिल्क शेक भी पी सकते है।

शहद (Honey)

  • शहद में चिकनाहट होती है इसलिए शहद खाने से भी हमें अल्सर से राहत मिल सकती है।
  • शहद में ग्लूकोज ऑक्सिडेस होता है जो हाइड्रोजन पेरोक्साइड का निर्माण करता है।
  • इसमें मौजूद गुण पेट के अल्सर के कीटाणु को मारते है साथ ही पेट और आंत को साफ करते है।

उपयोग विधि

  • अल्सर से आराम पाने के लिए रोज सुबह खाली पेट दो चम्मच शहद का सेवन करें।

गाय का दूध और हल्दी (Cow Milk & Honey)

  • हल्दी में एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं। इसके प्रयोग से आपको अल्सर में फायदा मिलता है।

उपयोग विधि

  • अल्सर रोगियों को गाय के दूध में हल्दी मिलाकर पीना चाहिए।
  • रात को सोने से पहले इसका सेवन करना अच्छा होता है।

मेथी (Fenugreek)

  • मेथी बहुत समय पहले से ही कई रोगों के लिए प्राकृतिक घरेलू उपचार के रूप में काम आती है।
  • इससे पेट के छाले के में भी फायदा मिलता है।

उपयोग विधि

  • प्रयोग के लिए दो कप पानी में एक टेबल स्पून मेथी दाने को उबालें। अब इसे छान कर इसमें थोड़ा सा शहद मिलाकर पिलाये।

बादाम का सेवन (Almond)

  • बादाम का सेवन करना भी अल्सर के रोगियों के लिए फ़ायदेमंद होता है। इसलिए अल्सर रोगी को बादाम खाना चाहिए।

उपयोग विधि

  • आप बादाम को डायरेक्ट भी खा सकते है।
  • इसके अलावा बादाम को पीस ले और उसे दूध में मिला ले। इस दूध का सेवन सुबह और शाम कर सकते है। इससे अल्सर से निजात मिल जाता है।

हींग का उपयोग (Asafoetida)

  • हींग घरो में आसानी से मिल जाती है और इसका उपयोग करने से आंतो के अल्सर से छुटकारा पाया जा सकता है।

उपयोग विधि

  • पानी में हींग को मिला कर पिए। यह लाभकारी होता है।
  • इसके साथ अल्सर रोगी को ऐसा खाना दे जो आसानी से पच सके।

गाजर और पत्ता गोभी का जूस (Carrot and Cabbage Juice )

  • गाजर और पत्ता गोभी का जूस अल्सर के लिए बहुत ही लाभकारी होता है। इसलिए सुबह शाम इसका सेवन करना भी अच्छा होता है।

उपयोग विधि

  • गाजर और पत्ता गोभी को बराबर मात्रा में लेकर उसका जूस बना ले। इस जूस को एक कप सुबह और एक कप शाम को पिए।
  • इसका सेवन करने से आराम मिलता है।

पोहे का उपयोग (Poha)

  • पोहा खाने से भी अल्सर रोगी को आराम मिलता है। यह बहुत ही असरकारी घरेलू नुस्खा होता है।

उपयोग विधि

  • पोहा और सोंफ को सामान मात्रा में ले ले और फिर उसका चूर्ण बना ले।
  • इसके बाद 2 लीटर पानी ले और उसमे 20 ग्राम चूर्ण को मिला ले।
  • यह मिश्रण आप सुबह तैयार करे और रात तक इसे पूरी तरह पी कर ख़त्म कर ले। इसी प्रकार प्रतिदिन घोल को बनाये और ख़त्म कर ले।
  • यह अल्सर के लिए फ़ायदेमंद होता है।
  • इस बात का ध्यान रखे की घोल को 24 घंटे के अंदर ख़त्म करना है। उसके बाद उसका उपयोग ना करे।

घी का इस्तेमाल (The Use of Ghee)

  • घी भी अल्सर रोगियों के लिए लाभकारी होती है। खास कर गाय का घी।

उपयोग विधि

  • गाय के दूध से निर्मित घी का सेवन करने से अल्सर ठीक हो जाता है।
  • इसके लिए आप घर पर गाय का घी बना सकते है या फिर बाजार से भी गाय का घी ला सकते है।

अन्य उपाय

  • उपरोक्त उपायों के अतिरिक्त भी ऐसी कई चीजें घर में मौजूद होती है इनका उपयोग कर अल्सर को दूर किया जा सकता है जैसे
  • छाछ की कढ़ी बना कर इसका सेवन कर सकते है। पर आप जो कढ़ी बना रहे है वह पतली होना चाहिए।
  • ऐसे फलो का सेवन करना चाहिए जिनमे फाइबर अधिक मात्रा में पाया जाता है। यह भी पेट को साफ करने में अच्छा होता है।
  • सोंठ का उपयोग भी अल्सर के लिए अच्छा होता है।

नोट – अल्सर रोगी को ऐसे आहार नहीं खाने चाहिये जिससे कब्ज और एसिडिटी की समस्या हो। अल्सर रोगी को चाय और कॉफी का सेवन नहीं करना चाहिए। धूम्रपान करना भी अच्छा नहीं होता है। शराब का सेवन भी नहीं करना चाहिए यह भी स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं होता है।

उपरोक्त उपायों द्वारा आप घर पर ही अल्सर को ठीक कर सकते है परन्तु इन सबका नियमित रूप से उपयोग करे तभी यह फ़ायदेमंद होता और अल्सर से राहत भी मिलती है। ज्यादा परेशानी होने पर डॉक्टर को ज़रूर दिखाए।


You may also like...