Rasgulla Recipe in Hindi: रसगुल्ला बना कर दें अपने परिवार को मिठास की सरप्राइज

अगर ऐसा कहें की रसगुल्ला भारत का सबसे प्रसिद्ध मिठाई है तो इसमें कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी। भारत के लगभग हर राज्य में आपको रसगुल्ला ज़रूर मिल जाएगा। इसकी मिठास का हर कोई दीवाना होता है। इसे खाने से ऊर्जा भी मिलती है और शरीर तरोताजा भी महसूस करने लग जाता है।

रसगुल्ले को बहुत सारे लोग व्रत त्यौहार के दौरान फलाहार के समय भी भी खाया करते हैं। इससे उपवास के दौरान शरीर को अच्छी एनर्जी मिलती है और आप उपवास में भी फ्रेश फील करते हैं।

रसगुल्ले के बारे में कहा जाता है की यह बंगाल और उड़ीसा से निकला और पूरे देश दुनिया में छा गया। आज भी बंगाल और ओडिशा रसगुल्ले को अपने राज्य का बताते हुए लड़ने लग जाते हैं। पर असल में तो यह पूरे भारत का है और भारत के लोग दुनिया में जहाँ जहाँ बसे है वहां का भी है।

आप ज्यादातर रसगुल्ले बाजार से ख़रीद कर खाते होंगे। बाजार में रसगुल्ले को बनाते समय उतना अच्छा नहीं बनाया जाता हो इसलिए इसे आप अपने घर में भी बना सकते हैं। आज इस लेख में हम आपको रसगुल्ला बनाने की विधि बताएँगे। पढ़ें Rasgulla Recipe in Hindi.

Rasgulla Recipe in Hindi: जाने रसगुल्ला बनाने की विधि

रसगुल्ला दो शब्दों के मेल से बना है जिसमे पहला शब्द है रस जो चीनी के मीठे रस को दर्शाता है और दूसरा शब्द है गुल्ला जो स्पंजी पनीर या छेने के गोले को दर्शाता है। दरअसल रसगुल्ला स्पंजी छेने के गोलों का चीनी के रस में सराबोर होने के बाद हीं तैयार होता है। यह मुख्य रूप से एक बंगाली मिठाई माना जाता है पर उड़ीसा के लोग भी इस पर अपना अधिकार मानते हैं। बाकी दूसरे राज्य हक़ जमाने के बजाय बस इसका स्वाद लेने पर अपना ध्यान केंद्रित करते हैं। बंगाल की स्थानीय भाषा में इस रोसोगोला के नाम से भी जाना जाता है और कई लोग इसे बंगाली टच दे कर Bengali Rasgulla भी कहते है ।

बहरहाल रसगुल्ले को घर पर बनाना ज्यादा मुश्किल नहीं है और इसे आप भी बड़ी हीं आसानी से बना सकते हैं। इसे बनाने के लिए कोई लंबी-चौड़ी सामग्रियों की लिस्ट भी नहीं लगती है, बस दूध, चीनी और निम्बू की मदद से आप इसे अपने घर पर हीं आसानी से बना सकते हैं। आइये अब जानते हैं Rasgulla Banane ki Recipe.

समय सीमा

सामग्रियों के लिए पूर्व तयारी की समय सीमा: 20 मिनट
रसगुल्ले को बनाने की समय सीमा: 30 मिनट
कितने व्यक्तियों के लिए: 6

इस्तेमाल होने वाली सामग्री

  • 1 लीटर फुल क्रीम मिल्क (गाय का हो तो अच्छा है)
  • 2 टेबलस्पून नीम्बू का रस
  • डेढ़ कप चीनी
  • 4 कप पानी
  • 2 इलायची

रसगुल्ला बनाने की विधि

रसगुल्ले के छेने की लोई

  • सबसे पहले दूध को किस बर्तन में रख कर उबलने के लिए रख दें और दूध के उबाल जाने के बाद इसमें 2 टेबल स्पून पानी के साथ निम्बू के रस को मिक्स करें और चम्मच से हिलाते रहें।
  • कुछ मिनटों के बाद दूध फटने लग जाएगा।
  • जब दूध अच्छे से फट जाए और छेना पानी अलग अलग दिखने लग जाएँ तब गैस बंद कर दें।
  • अब एक बड़े कपडे की सहायता से छेना को पानी से अलग कर लें।
  • अब इस छेने में से निम्बू के खट्टेपन को हटाने के लिए साफ़ पानी डाल कर फिर से एक बार छेने को छान दें।
  • अब उस कपड़ें में छेने को बाँध कर आधे घंटे के लिए कहीं टांग दें। ऐसा करने से उसका सारा पानी खुद से निकल जाएगा।
  • इसके बाद कपडे को खोल कर छेना किसी बर्तन में निकाल लें।
  • छेना अगर सूखा होगा तो रसगुल्ले भी इसके कारण कठोर बनेंगे पर छेना अगर नरम होगा तब रसगुल्ले बहुत नरम होंगे और बनाते समय हीं टूटने लगेंगे।
  • अब छेने को हांथों से मसल कर गूथे हुए आटे की तरह कर दें। हथेली चिकनाई महसूस करने लगे तब मसलना बंद कर दें।
  • अब इस छेने की छोटी छोटी लोई बना लें।

रसगुल्ले का रस

  • एक बड़े मुँह वाले बर्तन में डेढ़ कप चीनी को 4 कप पानी के साथ मिक्स करें, इसमें इलाइची डालें और फिर धीमे आंच पर इसे गरम करने के लिए रख दें।
  • जब ये मिक्सचर उबलने लग जाए तब इसमें छेने की लोई को डाल दें।
  • इसके बाद बर्तन को ढक कर धीमे आंच पर थोड़ी देर पकने के लिए छोड़ दें।
  • करीब 5 मिनट बाद बर्तन के ऊपर से ढक्क्न को हटा दें और चम्मच के माध्यम से हिलाएं।
  • इसके बाद फिर एक बाद कुछ मिनटों के लिए धीमे आंच पर पकने के लिए छोड़ दें।
  • अब आप देखेंगे की छेने की लोई का आकार दोगुना बढ़ गया है।
  • अब गैस को ऑफ़ कर दें।
  • पकने के बाद रसगुल्ले की साइज थोड़ी सी घटती है ये सामान्य है पर साइज ज्यादा घट जाए तो ये समझना चाहिए की पकाने में कुछ प्रॉब्लम आ गई है।
  • अब आप इन पक चुके रसगुल्लों को किसी दुसरे बर्तन में निकाल लें और 4-5 घंटे तक ठंढा होने के लिए छोड़ दें।
  • आपका रसगुल्ला अब तैयार है।

कुछ सुझाव जो रसगुल्ला बनाते समय करेंगे आपकी मदद

  • रसगुल्ला बनाने के लिए कभी भी बाजार में मिलने वाले छेने का उपयोग ना करें। इसके लिए घर में छेना तैयार करना अच्छा माना जाता है।
  • छेने के लिए गाय का दूध इस्तेमाल करना अच्छा माना जाता है इसके अलावा दूसरे दूध अच्छा परिणाम नहीं देते हैं।

आज के इस लेख में आपने जाना रसगुल्ला बनाने की विधि। रसगुल्ला बनाना एक आसान कार्य होता है जिसे कोई भी आराम से अपने घर पर हीं बना सकता है। अगर आप भी इस वीकेंड पर कुछ मीठा बनाने की सोच रही हैं तो रसगुल्ला एक अच्छा विकल्प है। आज हीं रसगुल्ला बनाएं और अपने परिवार को खाने के बाद स्वीट डिश के तैर पर सरप्राइज दें। आपके परिवार के लोग इसे खा कर आपकी तारीफ़ किये बगैर नहीं रह पाएंगे।

You may also like...